Hariyali Teej 2018: श्रावण मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया को आने वाली तीज को हरियाली तीज के नाम से जाना जाता है. इस दिन महिलाएं मां पार्वती और भोलेनाथ की पूजा करती हैं, व्रत रखती हैं और पति के लंबी आयु की कामना करती हैं. यह व्रत बच्चों की सलामती के लिए भी रखा जाता है. इस बार हरियाली तीज 13 अगस्त 2018 को मनाई जाएगी. Also Read -  Somvar Ke Upay: सोमवार के दिन करें भोलेनाथ के ये उपाय, मन की सभी मुरादें होंगी पूरी

Also Read - Pradosh Vrat 2021 Shubh Yog: प्रदोश व्रत के दिन बन रहा है ध्रुव योग, यहां जानें क्या है इसका महत्व

अगर आप गर्भवती हैं या नई-नई मां बनी हैं और हरियाली तीज का व्रत रखना चाहती हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान व्रत रखना मां और बच्चे दोनों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है. अगर आप नई-नई मां बनी हैं तो भी आपको इन बातों का खास ध्यान रखना होगा, क्योंकि आप अपने बच्चे को दूध पिलाती हैं. Also Read - Today's Panchang, April 5, 2021: सोमवार के दिन पढ़ें आज का पंचांग, जानें भगवान शिव की पूजा का शुभ समय

प्रेग्नेंसी में हरियाली तीज व्रत रखने के लिए इन बातों का ख्याल रखें:

1. चाय कॉफी:

pregnancy

व्रत में अक्सर लोग चाय कॉफी ज्यादा पीते हैं. ऐसा आप ना करें. प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा चाय और कॉफी पीने से डीहाइड्रेशन हो सकती है. इससे बेहतर होगा कि आप ताजा फल या जूस पिएं. इससे आपको भी अच्छा लगेगा और बच्चा भी सेहतमंद रहेगा.

2. ज्यादा मिठाई भी नहीं:

indian-sweets

व्रत में मिठी चीजें खाने की अनुमति होती है, लेकिन ज्यादा मीठाई खाने से आपकी तबियत खराब हो सकती है. हरियाली तीज के दौरान ज्यादा मिटाई खाने से डायबिटीज का खतरा भी रहता है. इसलिए उसकी जगह आप फल खाएं तो बेहतर होगा.

3. निर्जला व्रत:

nirjala-vrat

प्रेग्नेंसी में निर्जला या बिना कुछ खाए हरियाली तीज व्रत रखने की गलती ना करें. इस बात को याद रखें कि आपके साथ आपके बच्चे की जिम्मेदारी भी है अब आपके ऊपर. व्रत के दौरान नारियल पानी पीते रहें. इससे डीहाइड्रेशन नहीं होगा और एनर्जी भी बनी रहेगी.

4. बहुत ज्यादा ना चलें:

pregnancy-2

प्रेग्नेंसी में हरियाली तीज व्रत कर रही हैं तो बहुत ज्यादा ना चलें. इससे आपकी ऊर्जा ज्यादा खर्च होगी. खासतौर से धूप में बाहर ना निकलें.

5. देर तक पूजा ना करें:

hariyali-teej-2

हरियाली तीज की पूजा लंबी चल रही है तो आप बीच में उठ कर थोड़ी देर वॉक कर लें, फिर बैठ जाएं. प्रेग्नेंसी में लंबे समय के लिए पूजा पर बैठना मुश्किल खड़ी कर सकता है.

pregnancy-3

बता दें कि प्रेग्नेंसी के दौरान व्रत रखने का फैसला आपकी सेहत को कई तरह से प्रभावित कर सकता है. इसलिए अपनी और बच्चे की सेहत को देखतेे हुए ही यह फैसला करें. व्रत करने का फैसला जोखिम भरा हो सकता है, इसलिए डॉक्टर से सलाह लेकर ही कदम उठाएं.

इस बात का भी ध्यान रखें कि प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ जरूरी दवाएं लेनी होती हैं. इसे आप मिस ना करें.