Hartalika Teej का व्रत पति की लंबी उम्र की कामना से किया जाता है. इस साल ये व्रत 1 सितंबर, रविवार को है. अगर आप भी ये व्रत रखती हैं तो पूजा सामग्री की तैयारी पहले ही कर लें.

इस दिन शाम के समय भगवान शिव-मां पार्वती की पूजा की जाती है. चंद्रमा को अर्घ्‍य दिया जाता है.

देखें List-
– पानी वाला नारियल
– जनेऊ (2)
– पान के पत्ते
– धतूरा
– बेलपत्र
– मदार का फूल
– गेंदे के फूल की माला
– गुलाब का फूल
– पंचामृत जरूर बनाएं. क्योंकि भोलेनाथ का इस दिन अभिषेक करना पड़ता है.
– अगर आप मिट्टी के शिवजी बनाते हैं तो पीली मिट्टी जरूर ले आइये. अगर मिट्टी उपलब्ध नहीं है तो आप शिवजी और माता पार्वती की बनी बनाई मिट्टी की मूर्ति बाजार से लाकर स्थापित कर सकते हैं.
– 5 मौसमी फल.
– गुझिया का प्रसाद जरूर बनाएं.
– मिठाई.
– माता पार्वती के लिए हाथों से गहने बनाए जाते हैं, बेसन का आटा लगाकर, गले का हार, कान के बूंदे, कंगन आदि बनाया जाता है और मैदे के आटे से पैर की पायल, बिछुआ, कमरधनी आदि बनाया जाता है.
– रोली, मोली, धागा, भस्म, अगरबत्ती, दीप, व्रस्त्र, इत्र आदि जो भी पूजा का सामान होता है वह भी ले आएं.
– सुहाग की पिटारी
– ब्राह्मणी और ब्राह्मण को दान के लिए यथा शक्ति कोई भी वस्त्र ले आएं.
– नारियल के पत्ते, हल्दी की गांठ, आम के पत्ते, पान सुपारी, लाल कपड़ा.
– अगर घर में पूजा कर रहे हैं तो शाम से पहले यह तैयारी कर लें और पूजा के स्थान को अच्छी तरह सजा लें.

पूजा का शुभ मुहूर्त
प्रातःकाल मुहूर्त: 05:58 बजे से 08:31 बजे तक.
प्रदोष काल मुहूर्त: 6:43 बजे से 8:58 बजे तक.