हर घर में मंदिर होता है और लोग वहां हर दिन भगवान को याद करते हैं और उनकी पूजा करते हैं. लेकिन कई बार लोग मंदिर को सजाने और उसे घर में स्थापित करने के दौरान ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिनके बारे में उन्हें कुछ खास मालूम भी नहीं होता है. ऐसे में अगर आफ घर में मंदिर रख रहें तो ध्यान रहे की आपका पूजा स्थान घर की रौनक को बढ़ाए. Also Read - Masik Kalashtami 2020: कल मासिक कालाष्टमी, जानें पूजा विधि और शुभ समय

घर में मंदिर होता है सुख-शांति आती है लोगों के मन में भगवान के लिए प्यार औऱ विश्वास बना होता है. साथ ही घर की ऊर्जा भी अच्छी रहती है. लेकिन आपने अपने घर में गलत स्थान पर मंदिर बनाया है तो ऐसे में आपको इसका फल नहीं मिलेगा, इसलिए आज हम बताएंगे की आफ कैसे अपने घर में देवी- देवताओं को पूरे प्यार औऱ सम्मान के साथ स्थापित कर सकती हैं. Also Read - 12 दिसंबर को है मार्गशीर्ष पूर्णिमा, इस दिन कट सकते हैं आपके सारे पाप, यह है पूजा विधि

इस जगह रखें घर का मंदिर
घर का मंदिर अगर आप बना रहे हैं तो उसे घर के आशान कोण में रखें, अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं तो जब आप पूजा करें तो पूर्व दिशा की तरफ मुंह करके ही पूजा करें. एक बार अगर पूजा का स्थान बना दिया है तो उसे बार बार नहीं बदलें. अगर आप पूजा की जगह को पेंट करवा रहे हैं तो उसके रंग हल्का पीला रखें किसी भी गाढ़े रंग से दूर रहें. Also Read - Mokshada Ekadashi 2019: इस दिन मनाई जाएगी मोक्षदा एकादशी, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

स्थपना के दौरान इन बातों का रखें ध्यान
हर किसी के अपने खास देवी देवता हैं ऐसे में अगर आप भी उन्ही में से एक हैं तो आप जिस देवी या देवता की मुख्य रुप से पूजा औऱ ध्यान करते हैं उनकी मूर्ति या फिर तस्वीर को विराजमान करें. ध्यान रहे कि वो किसी चौकी पर ही स्थापित हों, बाकियों को आप अपने मंदिर के हिसाब से सजा सकती हैं. आप चाहें तो पूजा स्थान पर शंख,गोमती चक्र और पात्र में जल रख लें.

कैसे करें पूजा
वैसे तो आप हर दिन ही भगवान को याद करते हैं लेकिन अपने पूजा का एक नियम बनाए, हर दिन शाम के वक्त घर में दिया या फिर अगरबत्ती जरुर जलाएं. इसके साथ ही आप चाहें तो किसी मंत्र का उच्चारण करें या फिर घर में आरती करें. इसके साथ ही अपने मंदिर की सफाई नियमित तरीके से करते रहें, साथ ही पूर्वजों की कोई तस्वीर वहां ना रखें और उसके पास रसोई ना हो साथ ही कोई स्टोर रुम ना हो.