Holi से एक सप्‍ताह पहले के समय को होलाष्‍टक (Holashtak) कहा जाता है. इन दिनों में शुभ कार्य नहीं किए जाते.

खरमास 2019: कब से कब तक लग रहा खरमास, जानिए इन दिनों क्‍यों नहीं होते शुभ कार्य

इस साल होलाष्टक 13 मार्च, बुधवार से शुरू होगा. 13 मार्च से 20 मार्च तक के समय में होलाष्‍टक रहेगा. 20 मार्च को होलिका दहन के साथ ये समाप्‍त होगा.

इन दिनों में शुभ कार्य करने की मनाही होती है. इस समय में विवाह, गृह प्रवेश, निर्माण, नामकरण आदि शुभ कार्य वर्जित होते हैं. नए काम भी शुरू नहीं किए जाते. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन दिनों में जो कार्य किए जाते हैं उनस कष्ट, पीड़ा आती है. विवाह आदि किए जाएं तो भविष्‍य में संबंध विच्छेद, कलह का शिकार होते हैं.

विवाह मुहूर्त 2019: इस साल है शादियों का बंपर मुहूर्त, यहां से देखें वो शुभ दिन

Holi 2019
होली का त्‍योहार फाल्‍गुन मास में पूर्ण‍िमा के दिन मनाया जाता है. इस साल यह 21 मार्च 2019 को मनाया जाएगा. यानी 20 मार्च को होलाष्टक खत्‍म होने के साथ होलिका दहन होगा और 21 मार्च को रंगों के साथ त्योहार मनाया जाएगा. होलिका दहन को लोग छोटी होली भी कहते हैं.

Tips: घर में हो मंदिर तो इन 11 नियमों का अवश्‍य रखें ध्‍यान, वरना रूठ जाते हैं भगवान…

Barsana Lathmaar Holi 2019
भगवान कृष्ण और राधा के जन्म स्थान बरसाना की लट्ठमार होली भारत के सबसे रंगीन पर्व होली मनाने के अपने अनूठे तरीके के लिए विश्वप्रसिद्ध है. इस बार 14 मार्च को बरसाना की लड्डू होली व 15 को बरसाना की विश्व प्रसिद्ध लट्ठमार होली होगी. 16 मार्च को इसी के प्रतिरूप नंदगांव की लट्ठमार होली खेली जाएगी.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.