Holika Dahan 2020: इस बार होलिका दहन (Holika Dahan) गजकेसरी योग में होगा. होलिका दहन पर शुभ योग होने के कारण इसका महत्‍व और बढ़ गया है. Also Read - नताशा ने हार्दिक पांड्या संग ससुराल में जमकर खेली होली,भज्‍जी-धवन भी होली के रंग में आए नजर

इस बार रंग वाली होली (Holi 2020) 10 मार्च को खेली जाएगी. होलिका दहन 9 मार्च को होगा. खास बात है कि इस साल होली दहन अत्यंत शुभ गजकेसरी योग में होगा. Also Read - VIDEO: मुंबई में होलिका की जगह जलाया गया कोरोनासुर का पुतला, लोग बोले- 'दूर भागेगा Virus'

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गज मतलब हाथी, केसरी मतलब शेर, हाथी और शेर का संबंध मतलब राजसी सुख. 9 मार्च को गुरु और शनि अपनी-अपनी राशि में होंगे. ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, होली के दिन यह योग सुख, समृद्धि और शांति लाने वाला है. इस दिन बृहस्पति-मंगल साथ होंगे. इस संयोग से पूरे साल मांगलिक कार्य होंगे. Also Read - Happy Holi 2020 Wishes In Hindi: होली पर हिंदी में भेजें ये शुभकामना संदेश, दें रंगपर्व की बधाई

सर्वार्थ सिद्धि योग

 

होलिका दहन के वक्त भद्रा नहीं होगी. सर्वार्थ सिद्धि योग में होलिका दहन होगा. होलिका दहन के लिए शाम 6:30 से 6:50 बजे तक का समय श्रेष्ठ माना गया है.

Holika Dahan 2020 Shubh Muhurat

दिन: 9 मार्च
संध्या काल– 06:22 बजे से 8:49 बजे तक.

 

होलिका दहन पर करें ये उपाय-

 

– मीठे पुए और पकौड़ी बनायें. होलिका में समर्पित करें. इससे अन्न से संपन्न रहेंगे.

– होलिका वाले दिन सुबह नहाने से पूर्व उबटन लगाएं. इस उबटन को झाड़कर रख लें. होलिका जले तो उसमे डालें. ऐसे कर आप परिवार के सदस्यों पर आने वाली विपत्ति से मुक्ति पा लेंगे. रोग भी दूर होंगे.

– होलिका जलने के बाद उसकी राख को घर ले आएं. राख को घर के चारों तरफ दरवाजे पर छिड़क दें. घर की नेगेटिव एनर्जी दूर होगी. सुख, संपन्‍नता आएगी.

– गाय के गोबर में जौ, अरसी, कुश मिलाकर छोटा उपला बना लें. इसे घर के मुख्‍य दरवाजें पर लटका दें.

– होलिका दहन के अगले दिन राख को माथे पर लगाएं. बाएं से दाएं की ओर तीन रेख माथे पर खींचे. पहली रेखा महादेव, दूसरा रेखा महेश्वर और तीसरी रेखा शिव की मानी गई है.

 

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.