मुंबई: ओडिशा अब तक भले ही चक्रवात फोनी से पूरी तरह नहीं उबर पाया हो लेकिन इस राज्य में सालाना जगन्नाथ रथयात्रा की तैयारी पूरी कर ली है. रथयात्रा बृहस्पतिवार को पवित्र शहर पुरी से शुरू होगी. एक सप्ताह चलने वाले इस महोत्सव के दौरान पुरी में करीब दो लाख श्रद्धालुओं के आने की संभावना है जो पिछले साल से 30 प्रतिशत से ज्यादा है. आमतौर महोत्सव के दौरान राज्य में करीब 1.5 लाख भक्तगण आते हैं.

 

राज्य के पर्यटन मंत्री ज्योति प्रकाश पाणिग्रही ने कहा कि मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत गर्व हो रहा है कि पुरी शहर को चक्रवात द्वारा झकझोरने के केवल दो महीने बाद चार से 12 जुलाई तक ओडिशा जगन्नाथ रथयात्रा का उत्सव मनाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य ने बिजली और जलापूर्ति, दूरसंचार तथा होटल जैसी प्रमुख आधारभूत सुविधाओं को बहाल कर लिया है जिन्हें चक्रवात ने ध्वस्त कर दिया था.

पर्यटन, खेल एवं युवा सेवा सचिव विश्व कुमार देव ने कहा कि हम इस साल रथयात्रा महोत्सव सादगी के साथ मनाने की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि हम अब तक चक्रवात से उबरे नहीं हैं. हालांकि, हम अब पूरी तरह से तैयार हैं और महोत्सव में डेढ से दो लाख भक्तों के आने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि राज्य ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर पुनरोद्धार कार्य शुरू किया है.