Kab Hai Kalashtami 2021: कालाष्टमी को काला अष्टमी के नाम से भी जाना जाता है और हर माह कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दौरान इसे मनाया जाता है. कालभैरव के भक्त साल की सभी कालाष्टमी (Kab Hai Kalashtami 2021) के दिन उनकी पूजा और उनके लिए उपवास करते हैं. सबसे मुख्य कालाष्टमी जिसे कालभैरव जयन्ती के नाम से जाना जाता है. यह माना जाता है कि उसी दिन भगवान शिव भैरव के रूप में प्रकट हुए थे. इस बार कालाष्टमी 1 जुलाई 2021 यानी गुरुवार के दिन मनाई जाएगी.Also Read - Kalashtami 2022: माघ माह की कालाष्टमी आज, रात में करें इस विध‍ि से पूजा, होगा शत्रुओं का नाश

कालाष्टमी 2021 शुभ मुहूर्त (Kalashtami Shubh Muhurat)

आषाढ़, कृष्ण अष्टमी
प्रारम्भ – 02:01 पी एम, जुलाई 01
समाप्त – 03:28 पी एम, जुलाई 02 Also Read - Kalashtami 2021 Date: इस दिन मनाई जाएगी पौष मास की कालाष्टमी, जानें डेट शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

कालाष्टमी पूजा विधि (Kalashtami Puja Vidhi)

इस दिन भैरव चालीसा का पाठ करना चाहिए. कालाष्टमी के पावन दिन पर कुत्ते को भोजन कराना चाहिए. ऐसा करने से भैरव बाबा प्रसन्न होते हैं और सभी इच्छाओं को पूरा करते हैं भैरव बाबा का वाहन कुत्ता होता हैं इसलिए इस दिन कुत्ते को भोजन कराने से विशेष फल की प्राप्ति भक्तों को होती हैं. Also Read - Kalashtami 2021 Date: इस दिन मनाई जाएगी मासिक कालाष्टमी, जानें डेट, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

कालाष्टमी व्रत का महत्व

काल भैरव की भक्ति करने से भूत, पिशाच, काल दूर रहते हैं. जिस दिन अष्टमी तिथि, रात्रि के समय बलवान होती है, उस दिन कालाष्टमी का व्रत किया जाता है. इस दिन भगवान भैरव की पूजा करने से रोगों से मुक्ति मिलती है.