kailash Mansarovar Yatra 2019 के लिए पंजीकरण आरंभ हो गए हैं. इस बार ये यात्रा 8 जून से आरंभ होगी.

क्‍या होता है नजर लगना? कैसे बचें बुरी ‘नजर’ से, जानें हर सवाल का जवाब…

जानकारी के अनुसार कैलाश मानसरोवर यात्रा इस बार 8 जून से शुरू होगी और 8 सितंबर तक चलेगी. दो मार्गों के जरिए यात्रा होगी.

बताया गया है कि यात्रा के लिए पंजीकरण 9 अप्रैल से शुरू हो गया है और इसकी अंतिम तिथि 9 मई है.

आवेदक की आयु कम से कम 18 साल व एक जनवरी को 70 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए.

पहला रूट
लिपुलेख दर्रा (उत्तराखंड) के रास्ते प्रति व्यक्ति लगभग 1.8 लाख रुपये खर्च होने का अनुमान है, जिसमें कुछ दुर्गम पद यात्रा शामिल हैं. तीर्थयात्रा 18 समूहों में आयोजित की जाएगी, जिसमें प्रत्येक समूह में 60 तीर्थयात्री होंगे. यात्रा की अवधि प्रत्येक समूह के लिए 24 दिनों की होगी, जिसमें दिल्ली में तीन दिन की तैयारी भी शामिल है.

बताया गया है कि ये मार्ग प्रमुख स्थलों जैसे नारायण आश्रम व पाताल भुवनेश्वर से होकर गुजरता है. तीर्थयात्री चियालेख घाटी या ओम पर्वत की प्राकृतिक सुंदरता को देख सकते हैं जहां प्राकृतिक रूप से ‘ओम’ आकार में बर्फ दिखती है.

शुक्रवार शाम मां लक्ष्मी की इस विधि से पूजा करें, होगी धन वर्षा

दूसरा रूट
नाथू ला दर्रे (सिक्किम) से होकर जाने वाला मार्ग वाहन से जाए जाने योग्य है और बुजुर्गो के लिए ठीक है, जो कठिन ट्रैकिंग नहीं कर सकते. इसमें प्रति व्यक्ति खर्च ढाई लाख रुपये का आएगा.

कैसे कराएं पंजीकरण
यात्रा से जुड़ी अधिक जानकारी व पंजीकरण के लिए इस वेबसाइट पर जाएं.

https://kmy.gov.in/kmy/

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.