Kamada Ekadashi 2020: कामदा एकादशी का हिंदू धर्म में काफी महत्व है. ये एकादशी (Ekadashi) हिंदू नववर्ष की पहली एकादशी होती है. हर साल चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी व्रत (Kamada Ekadashi Vrat) होता है. Also Read - Kamada Ekadashi 2020 Vrat Katha: कामदा एकादशी की पौराणिक व्रत कथा, जपें भगवान विष्णु के सरल मंत्र

Kamada Ekadashi Importance- कामदा एकादशी महत्व

इस एकादशी को पाप नष्ट करने वाली एकादशी माना गया है. पुराणों में कहा गया है कि इस दिन व्रत रखने वालों और कथा सुनने से हर कामना पूर्ण होती है. जाने-अनजाने में किया पाप नाश होता है. व्रत करने वाले को मृत्‍यु के बाद स्‍वर्ग प्राप्‍त होता है. कामदा एकादशी का व्रत बहुत फलदायी होती है. इसलिए इसे फलदा एकादशी भी कहते हैं. Also Read - Kamada Ekadashi 2019: जानें कामदा एकादशी का महत्‍व, व्रत विधि एवं व्रत कथा...

Kamada Ekadashi Vrat Vidhi- कामदा एकादशी व्रत विधि

सुबह उठकर स्नान करें. भगवान विष्‍णु का ध्‍यान करें. भगवान को फल, फूल, दूध, पंचामृत चढ़ाएं. व्रत का संकल्प लें. पूरे दिन फलाहार करें. भगवान श्रीहरि का स्मरण करें. शाम के समय भजन कीर्तन करें. शाम के समय भगवान का पूजन करें. प्रसाद वितरित करें. अगले दिन द्वादशी को स्नान आदि के बाद भगवान विष्णु का पूजन कर पारण करें.

Kamada Ekadashi Date- कामदा एकादशी तिथि

कामदा एकादशी चैत्र मास की शुक्ल पक्ष एकादशी को होती है. इस साल कामदा एकादशी व्रत 4 अप्रैल, शनिवार को है. एकादशी पारण 5 अप्रैल, रविवार को किया जाएगा.

Kamada Ekadashi Shubh Muhurat

एकादशी तिथि प्रारम्भ – अप्रैल 04, 2020 को 12:58 ए एम बजे
एकादशी तिथि समाप्त – अप्रैल 04, 2020 को 10:30 पी एम बजे