Kamika Ekadashi 2019: श्रावण मास के कृष्ण पक्ष में आने वाली कामिका एकादशी का काफी महत्‍व है. इस व्रत को रखने से सभी प्रकार के कष्‍ट दूर होते हैं.

ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से हर बिगड़े काम बनते हैं.

हालांकि इस व्रत को रखने के जितने नियम हैं, वैसे ही नियम इसके पारण के भी बताए गए हैं. उद्यापन में इन नियमों का ध्‍यान रखना बेहद आवश्‍यक है.

Sawan Pradosh Vrat: सावन के दूसरे सोमवार अनूठा संयोग, जानें सोम प्रदोष व्रत की विधि, इस समय करें शिव पूजन…

Kamika Ekadashi Udyapan Vidhi
द्वादशी के दिन घर पर ब्राह्मण को बुलाएं और उन्हें खाना खिलाएं. सामर्थ्य अनुसार उन्हें दान-दक्षिणा दें. उसके बाद पारण करें. अगर ब्राह्मण को घर बुलाकर भोजन कराने का सामर्थ्य नहीं है तो आप एक व्यक्ति के भोजन के बराबर अनाज किसी गरीब को या मंदिर में दान कर दें. यह भी आपको उतना ही फल प्रदान करेगा.

Sawan 2019: इन 5 चीजों से कभी ना करें शिव पूजा, हो जाता है विनाश…

कामिका एकादशी 2019 तिथि
इस बार कामिका एकादशी का व्रत 28 जुलाई, रविवार को किया जाएगा. श्रावण मास में आने के कारण इस व्रत का महत्‍व और बढ़ गया है.

व्रत नियम
कामिका एकादशी व्रत का तीन दिन का नियम होता है. यानी दशमी, एकादशी और द्वादशी को कामिका एकादशी के नियमों का पालन होता है. इन तीन दिनों के दौरान जातकों को चावल नहीं खाने चाहिए. इसके साथ ही लहसुन, प्याज और मसुर की दाल का सेवन वर्जित है. मांस और मदिरा का सेवन भूल कर भी नहीं करना चाहिए.