त्‍योहारों का सीजन शुरू हो चुका है. कुछ ही दिनों में करवाचौथ(Karva chauth 2019), धनतेरस(Dhanteras 2019), दीपावली (Diwali 2019) और छठ पूजा (Chhath puja 2019) जैसे त्‍योहार आएंगे.

इन सभी त्‍योहारों पर शुभ मुहूर्त में ही देवी-देवताओं का पूजन किया जाता है. ऐसे में हम पूजन के लिए अक्‍सर शुभ मूहूर्त ढूंढ़ने लगते हैं.

पर इस बार हम आपके लिए इन सभी बड़े त्‍योहारों पर शुभ पूजन मुहूर्त एक ही जगह ले आए हैं.

देखें-

करवाचौथ (Karva chauth 2019)
ये व्रत महिलाओं के लिए बेहद खास होता है. वे पूरे साल इस व्रत का इंतजार करती हैं. ये व्रत पति की लंबी उम्र की कामना से रखा जाता है.

तिथि: 17 अक्‍टूबर, गुरुवार
पूजन मुहूर्त: शाम 6:14 बजे से रात 7:28 बजे तक.

Festivals in October 2019: अक्‍टूबर में दशहरा, करवाचौथ समेत ये हैं पर्व-त्‍योहार, देखें संपूर्ण पांचांग…

धनतेरस (Dhanteras 2019)
दिवाली से ठीक दो दिन पूर्व धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है. दरअसल, ऐसी मान्यता है कि धनतेरस के दिन यानी धनत्रयोदशी के दिन भगवान धनवंतरी का जन्म हुआ था. तभी से धनत्रयोदशी के दिन को धनतेरस के रूप में मनाया जाने लगा और इस दिन को धन तेरस के रूप में पूजा जाता है. 

तिथि: 25 अक्‍टूबर, शुक्रवार
पूजन मुहूर्त: शाम 7:23 बजे से रात 8:36 बजे तक.

दीपावली (Diwali 2019)
दिवाली का पूरा दिन ही शुभ होता है. इसलिए आप किसी भी समय पूजा कर सकते हैं. खासतौर से ऐसे लोग जो सिर्फ लक्ष्मी गणेश की पूजा करते हैं, उन्हें राहुकाल के बारे में सोचने की या चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अमावस्या कि दिन राहुकाल का दोष नहीं लगता है.

तिथि: 27 अक्‍टूबर, रविवार
पूजन मुहूर्त: शाम 6:04 बजे से रात 8:36 बजे तक.

छठ पूजा (Chhath puja 2019)
छठ पर्व सूर्य पूजन का व्रत है. चार दिनों तक सूर्य की उपासना की जाती है और उनकी कृपा का वरदान मांगा जाता है. छठ का व्रत जीवन में सुख और समृद्ध‍ि के लिए और संतान व पति की लंबी आयु के लिए किया जाता है.

तिथि: 2 नवंबर, शनिवार
पूजन मुहूर्त: सूर्योदय सुबह 6:39 बजे, सूर्यास्‍त शाम 6:05 बजे.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.