नई दिल्ली: सुहाग का प्रतीक करवा चौथ (Karva Chauth 2019) इस साल 17 अक्टूबर को मनाया जाएगा. 70 सालों में पहली बार महिलाएं इस दिन मंगल और रोहिणी नक्षत्र में अपने पति की लंबी उम्र की कामना करेंगी. इस बार व्रत की समयाविधि 13 घंटे 56 मिनट की रहेगी. इस साल का करवा चौथ इसलिए भी खास है क्योंकि इस बार रोहिणी नक्षत्र के साथ मंगल का योग काफी मंगलकारी रहेगा. आइए जानते हैं कि 17 अक्टूबर को किस शुभ मुहूर्त पर आप व्रत रख सकेंगी और व्रत खोलने का कौन सा मुहूर्त शुभ होगा.

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त

चतुर्थी तिथि 17 अक्टूबर सुबह 06 बजकर 49 मिनट से शुरू होगी जो 18 अक्टूबर को सुबह 07 बजकर 29 मिनट तक चलेगी. जिसके चलते व्रत की समयाविधि  13 घंटे 56 मिनट होगी.

व्रत रखने का समय- 17 अक्टूबर को सुबह 6:21 मिनट से रात 8:18 मिनट तक

पूजा का शुभ मुहूर्त- 17 अक्टूबर की शाम 5:50 मिनट से शाम 7:06 मिनट तक

चांद निकलने का समय- 8 बजकर 18 मिनट

ये होती है करवा चौथ की पूजा सामग्री-

– मिट्टी का करवा
-पानी का लोटा
– गंगाजल
– दीपक
– रूई
– अगरबत्ती
– चंदन
– कुमकुम
– रोली
– अक्षत
– फूल
– कच्चा दूध
– दही
– देसी घी
– शहद
– चीनी
– हल्दी
– चावल
– मिठाई
– चीनी का बूरा
– मेहंदी
– महावर
– सिंदूर
– कंघा
– बिंदी
– चुनरी
– चूड़ी
– बिछुआ
– गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी
– लकड़ी का आसन
– छलनी
– आठ पूरियों की अठावरी
– हलुआ
– दक्षिणा के पैसे