Krishna Janmashtami 2019 पर भगवान कृष्‍ण के पूजन की तैयारियां शुरू हो गई हैं. भगवान के साज-श्रृंगार से लेकर भोग तक की विशेष तैयारियां भक्‍त करते हैं.

पूजा में इस्तेमाल होने वाली सामग्री List

दही, शहद, दूध
चौकी, पीला साफ कपड़ा, पंचामृत
बाल कृष्ण की मूर्ति, सिंहासन, गंगाजल
दीपक, घी, बाती
धूपबत्ती, गोकुलाष्ट चंदन, अक्षत
माखन, मिश्री, भोग सामग्री
तुलसी का पत्ता

कान्हा के श्रृंगार की List

पीले वस्त्र, मोरपंख
वैजयंती माला, चूड़ियां
बांसुरी, मुकुट
इत्र, बांसुरी

krishna Janmashtami date
इस बार कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी पर्व 24 अगस्‍त, शनिवार को है.

जन्‍माष्‍टमी महत्‍व
भादो मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जो त्योहार मनाया जाता है, उसे कृष्ण जन्माष्टमी के नाम से जानते हैं. अष्टमी के दिन कृष्ण का जन्म हुआ था, इसलिए इसे कृष्ण जन्माष्टमी कहा जाता है. पौराणिक कहानियों के अनुसार श्री कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में मध्यरात्रि को हुआ था. इसलिए भाद्रपद मास में आने वाली कृष्ण पक्ष की अष्टमी को यदि रोहिणी नक्षत्र का भी संयोग हो तो वह और भी शुभ माना जाता है.