Kumbh Mela 2019: प्रयागराज कुंभ मेले का आगाज आज रात से हो जाएगा. जो कि आगामी 4 मार्च तक चलने वाला है. मेले के दौरान अक्‍सर सुनने में आता है कि कोई बच्‍चा अपने घरवालों से बिछड़ गया है. यह सूचना सुनकर अक्‍सर लोग परेशान होते हैं, साथ ही जिसका बच्‍चा खो गया है या फिर बिछड़ गया है वो भी इधर-उधर भटकते हैं. ऐसे में प्रयागराज कुंभ में बच्‍चों के साथ आने वालों के लिए राहत भरी खबर है. क्‍योंकि यूपी पुलिस ने इसके लिए बड़े स्‍तर पर कदम उठाया है. कुंभ मेले के दौरान अपने अभिभावकों से बिछुड़ने वाले बच्चों का पता लगाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचानपत्र (आरएफ आईडी) मुहैया कराएगी.

Kumbh Mela 2019: कुंभ मेले की live streaming, जानें कब और कैसे देख व सुन सकेंगे आप

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने सोमवार को बताया कि कुंभ मेला 50 दिन चलेगा और इसमें 12 करोड़ से अधिक लोग शामिल होंगे. बच्चे लापता ना होने पायें, इसके लिए 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को आरएफआईडी दी जाएगी. उन्होंने बताया कि एक टेलीफोन कंपनी से सहयोग लिया गया है और वह समन्वय को राजी है. 40 हजार आरएफआईडी बनेंगी. आरएफआईडी एक किस्म का वायरलेस संचार माध्यम है. इसमें इलेक्ट्रो मैग्नेटिक या इलेक्ट्रोस्टैटिक कफलिंग का इस्तेमाल होता है. यह किसी व्यक्ति या वस्तु की पहचान में सहायक होता है.

Kumbh 2019: कुंभ में ये अखाड़े लगाते हैं आस्‍था की डुबकी, जानें इनका पूरा इतिहास

कुंभ मेले में 15 आधुनिक एकीकृत डिजिटल खोया-पाया केन्द्र बनाए
सिंह ने बताया कि कुंभ मेले में 15 आधुनिक एकीकृत डिजिटल खोया—पाया केन्द्र बनाये गये हैं. सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के अलावा एलईडी के जरिए सूचना के डिस्प्ले की व्यवस्था की गयी है. सिंह ने बताया कि पहली बार ऑटोमैटिक नंबर प्लेट पहचान प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा. यह वाहनों की पहचान उनके रंग, लाइसेंस प्लेट, तारीख और वक्त से करेगा.

Kumbh 2019: कुंभ में आने वाले नागा साधुओं के बारे में वो बातें, जिससे आप भी होंगे अंजान

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.