इलाहाबाद: प्रयाग कुंभ का आगाज 15 जनवरी को हो चुका है. दो शाही स्‍नान के बाद अब तीसरा शाही स्‍नान 10 फरवरी को वसंत पंचमी के दिन है. संगम शहर में चल रहे आस्था के पर्व कुंभ में कल यानी रविवार को बसंत पंचमी के दिन तीसरे ‘शाही स्नान’ में कम से कम दो करोड़ से अधिक लोगों के आने की संभावना है. ऐसे में मेला प्रशासन ने वसंत पंचमी पर होने वाले तीसरे शाही स्‍नान के लिए मौनी अमावस्‍या जैसी ही तैयारी की है.

Kumbh 2019: कुंभ में आने वाले नागा साधुओं के बारे में वो बातें, जिससे आप भी होंगे अंजान

कुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद ने शनिवार को कहा कि रविवार को बसंत पंचमी के अवसर पर समाज के हर वर्ग से दो करोड़ से ज्यादा लोगों के डुबकी लगाने की संभावना है. उत्तर प्रदेश पुलिस तथा केन्द्रीय अर्ध सैनिक बल सहित सुरक्षा कर्मियों को विभिन्न क्रॉसिंग्स और शहर के अनेक हिस्सों में तैनात किया गया है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी) के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरि ने कहा कि कुंभ मेले में तीन शाही स्नान और तीन पर्व स्नान होते हैं.

Kumbh 2019: कुंभ में ये अखाड़े लगाते हैं आस्‍था की डुबकी, जानें इनका पूरा इतिहास

मकर संक्राति के दिन से शुरु हुआ था कुंभ मेला
कुंभ मेला 15 जनवरी को मकर संक्राति के दिन से शुरु हुआ था और वही पहला शाही स्नान था दूसरा शाही स्नान चार फरवरी को मौनी अमावस्या के दिन था. इलाहाबाद की महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने कहा कि बसंत पंचमी कुंभ का तीसरा और अंतिम शाही स्नान है. माना जाता है कि इस दिन तीन बार डुबकी लगा कर श्रद्धालुओं को गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती का आशिर्वाद मिलता है.इस लिए श्रद्धालुओं के लिए इसका काफी महत्व है.

Kumbh 2019: प्रयागराज कुंभ के ये हैं मुख्य आकर्षण, मेले में आने से पहले जरूर पढ़ें…

कुंभ मेले में सुरक्षा व्‍यवस्‍था चौकस
उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूरे पर्व को सुगमता से निपटाने के लिए सारी तैयारी की है. राज्य के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने कहा था कि पूरे क्षेत्र को नौ जोन और 20 सेक्टरों में बांटा गया है. इनकी सुरक्षा में 20,000 पुलिसकर्मियों, 6000 होमगार्ड तैनात किए गए हैं. इसके अलावा 40 पुलिस थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल केंद्र बनाए गए हैं. केन्द्रीय बलों की 80 कंपनियां तथा पीएसी की 20 कंपनियां भी तैनात हैं.

Basant Panchmi पर क्‍यों की जाती है कामदेव पूजा? दांपत्‍य जीवन पर होता है ये असर…