Kumbh Mela 2019 Date: हिन्दू धर्म में कुंभ मेला बहुत ही महत्वपूर्ण मेला है. इसे मेला के तौर पर नहीं, बल्कि एक पर्व के रूप में देखा जाता है. ऐसी मान्यता है कि इस दौरान पावन गंगा नदी में स्नान करने से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं. कुंभ का अर्थ होता है कलश.Also Read - दिग्‍विजय सिंह बोले- सरस्वती शिशु मंदिर बचपन से लोगों के दिल और दिमाग में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोते हैं...

Also Read - Love Jihad in UP: पहचान छुपाकर हिंदू लड़की को धर्म परिवर्तन के लिए किया मजबूर, फिर निकला ये अंजाम

Ganesh Chaturthi 2018: आज इस समय ना देखें चांद, वरना लग जाएगा कलंक Also Read - Vaishakha Month 2021: आज से शुरू हुआ वैशाख का शुभ महीना, जानें इसका महत्व, पड़ेंगे 12 शुभ मुहूर्त

कुंभ मेला हर 12 साल में आता है. दो बड़े कुंभ मेलों के बीच एक अर्धकुंभ मेला भी लगता है. इस बार साल 2019 में आने वाला कुंभ मेला दरअसल, अर्धकुंभ ही है. लेकिन जिस प्रकार से इस अर्धकुंभ मेले की तैयारियां चल रही हैं, उसे देखकर यह कहा जा सकता है कि यह पूर्ण कुंभ मेला ही है.

Happy Ganesh Chaturthi 2018 Wishes: इन शानदार SMS, Whatsapp Msg, Facebook Status और Gifs से करें दोस्तों को Wish

इस बार आयोजित होने वाले कुंभ मेले में कई नई चीजें देखने को मिलेंगी. युवाओं के लिए सेल्फी प्वाइंट से लेकर वाटर एम्बुलेंस तक की तैयारी है. मेले में एक अटल कॉर्नर भी बनाया जाएगा, जो वास्तव में एक इंफॉर्मेशन डेस्क होगा. सूचनाओं की मानें तो इस बार कुंभ मेला में रामलीला भी होगा, जिसे अंतरराष्ट्रीय बैले कलाकारों का एक समूह प्रस्तुत करेगा. यह रामलीला 55 दिनों तक चलेगी.

Ganesh Chaturthi 2018: गणपति को क्यों प्रिय है मोदक, जानिये

इसके अलावा यहां करीब 10 एकड़ जमीन पर ‘संस्कृत ग्राम’ बसाया जाएगा, जहां कुंभ के महत्व और इतिहास के बारे में बताया जाएगा.

2019 कुंभ मेले की शाही स्नान की तारीख

14-15 जनवरी 2019: मकर संक्रांति (पहला शाही स्नान)

21 जनवरी 2019: पौष पूर्णिमा

31 जनवरी 2019: पौष एकादशी स्नान

04 फरवरी 2019: मौनी अमावस्या (मुख्य शाही स्नान, दूसरा शाही स्नान)

10 फरवरी 2019: बसंत पंचमी (तीसरा शाही स्नान)

16 फरवरी 2019: माघी एकादशी

19 फरवरी 2019: माघी पूर्णिमा

04 मार्च 2019: महा शिवरात्रि

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.