Kumbh Mela 2019: प्रयागराज में कुंभ मेले का पहला शाही स्‍नान 15 जनवरी मकर संक्रांति को है. इसमें शामिल होने के लिए लाखों श्रद्धालु प्रयागराज पहुंच चुके हैं, जबकि मकर संक्रांति के दिन भी बड़ी संख्‍या में लोग पवित्र त्रिवेणी संगम में स्‍नान करने के लिए पहुंचेंगे. ऐसे में अगर आप किसी कारणवश कुंभ में नहीं पहुंच पा रहे हैं तो निराश होने की जरूरत नहीं है. क्‍योंकि कुछ ऐसे उपाय भी बताए गए हैं जिसको अपनाकर आप कुंभ में गंगा स्‍नान का पुण्‍य प्राप्‍त कर सकते हैं. Also Read - शिवसेना ने कहा- सुप्रीम कोर्ट रैलियों और कुम्भ मेले पर हस्तक्षेप करती तो लोग तड़पकर न मर रहे होते

Also Read - Kumbh Mela से लौटे थे संगीतकार श्रवण राठौड़, Covid-19 से गई जान; दो बेटे और पत्नी भी संक्रमित

Kumbh Mela 2019: कुंभ मेले की live streaming, जानें कब और कैसे देख व सुन सकेंगे आप Also Read - हरिद्वार कुंभ से लौट रहे लोगों के लिए सूचना, इन 5 राज्यों ने जारी की गाइडलाइन्स

प्रयागराज कुंभ-2019 के मौके पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु प्रयागराज आ रहे हैं, ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो समय की कमी या फिर शरीर से लाचारी के कारण कुंभ में पुण्य का लाभ ले पाने में असक्षम हैं. तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पैसे की कमी या किसी अन्‍य कारणों से भी कुंभ में नहीं पहुंच पा रहे हैं. ऐसे लोगों के लिए विष्णु पुराण में उपाए दिया गया है. यह उपाय अपनाकर आप अपने घर से ही गंगा स्नान का पुण्य प्राप्‍त कर सकते हैं. विष्‍णु पुराण में एक श्‍लोक हैं…गंगा गंगेति यैनमि योजना नां शतेष्वपि. स्थितैरुच्चारितं हन्ति पापं जन्म त्रयार्जितम्.

Kumbh 2019: कुंभ में ये अखाड़े लगाते हैं आस्‍था की डुबकी, जानें इनका पूरा इतिहास

गंगा-गंगा बोलते हुए करें स्‍नान

विष्णु पुराण में लिखे श्लोक का मतलब है कि जो व्यक्ति सौ योजन दूर (13 सौ किमी से 16 सौ किमी) से भी गंगा-गंगा का उच्चारण करते हुए स्नान करता है तो उसे भी पुण्य लाभ होता है. कहते हैं, इससे तीन जन्म के पाप भी नष्ट होते हैं.

Kumbh 2019: प्रयागराज कुंभ के ये हैं मुख्य आकर्षण, मेले में आने से पहले जरूर पढ़ें…

प्रयागराज कुंभ की प्रमुख तिथियां

15 जनवरी, मकर संक्रांति

21 जनवरी, पौष पूर्णिमा

04 फरवरी, मौनी अमावस्या

10 फरवरी, बसंत पंचमी

19 फरवरी, माघी पूर्णिमा

04 मार्च, महाशिवरात्रि

Kumbh 2019: कुंभ में आने वाले नागा साधुओं के बारे में वो बातें, जिससे आप भी होंगे अंजान

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.