Kumbh Mela 2019: प्रयाग कुंभ में अगला शाही स्‍नान चार फरवरी को मौनी अमावस्‍या के दिन है. मान्यता है कि इस दिन ग्रहों की स्थिति पवित्र नदी में स्नान के लिए सर्वाधिक अनुकूल होती है. इस दिन पर मेला क्षेत्र में सबसे अधिक भीड़ होती है. मेला प्रशासन ने मौनी अमावस्‍या के दिन करीब 5 करोड़ लोगों की भीड़ होने का अनुमान जताया है. ऐस में प्रयागराज में सोमवार को होने वाले ‘मौनी अमावस्या’ शाही स्नान से पहले कुंभ की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है.

Mauni Amavasya 2019: कब है मौनी अमावस्‍या, जानिए मौन व्रत का महत्‍व

अधिकारियों ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी. पूरे इलाके को 10 जोन और 25 सेक्टरों में बांट दिया गया है, जिसकी निगरानी एक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) स्तर के अधिकारी द्वारा की जाएगी. अधिकारियों ने कहा कि शाही स्नान के लिए 40 पुलिस थाने और 58 पुलिस चौकियां स्थापित की गई हैं. बता दें कि 15 जनवरी से शुरू हुए कुंभ में मौनी अमावस्या पर तीसरा शाही स्नान होगा. पहला शाही स्नान कुंभ के शुरुआती दिन मकर संक्रांति पर हुआ था जबिक दूसरा स्नान 21 जनवरी को पौष पूर्णिमा पर हुआ.

Kumbh Mela 2019: मौनी अमावस्‍या पर 5 करोड़ श्रद्धालु लगाएंगे डुबकी, संगम घाट में होगा ये बदलाव

ऐसी होगी सुरक्षा
गृह विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इस दिन के लिए 43 दमकल स्टेशन, 15 उपदमकल स्टेशन, आग संबंधी घटनाओं पर निगरानी के लिए 40 पहरे की मीनार और 96 नियंत्रण पहरे की मीनार स्थापित की गई हैं. अधिकारी ने कहा कि पूरा इलाका 440 सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में है. करीबी समन्वय और शीघ्र संचार के लिए एक इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) और 12 वायरलेस ग्रिड भी स्थापित किए गए हैं. इंतजामों की देखरेख में जुटे एक जिला अधिकारी ने कहा कि दो महीने तक चलने वाली धार्मिक सभा विशेषकर शाही स्नान के दिनों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए 22 पंटून पुल और 40 घाट तैयार किए गए हैं.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.