Lunar Eclipse 2018: इस सप्ताह आने वाला शुक्रवार सामान्य शुक्रवार नहीं है. इसे आप ताउम्र याद रखेंगे. शुक्रवार 27 जुलाई को सदी का सबसे लंबा और पूर्ण चंद्रग्रहण लगने वाला है. कुछ लोग संभवत: जीवन में पहली बार ऐसा चंद्रग्रहण देख पाएंगे, जो पूरी तरह लाल होगा. इसे ब्लड मून भी कहते हैं.

ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी की रिसर्च स्कूल ऑफ एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स के खगोल विज्ञानियों के अनुसार इस चंद्रग्रहण को पूरी दुनिया के लोग देख सकेंगे. हालांकि इसमें उत्तरी अमेरिका अपवाद है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूरोप, अफ्रीका और सेंट्रल एशाई देश जैसे कि भारत में स्पष्ट चंद्रग्रहण देखा जा सकेगा.

दरअसल चंद्रग्रहण में सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है. चंद्रमा इस स्थिति में पृथ्वी की ओट में पूरी तरह छिप जाता है और उस पर सूर्य की रोशनी नहीं पड़ पाती है. इस खगोलीय घटना के वक्त पृथ्वीवासियों को चंद्रमा रक्तिम आभा लिये दिखायी देता है. लिहाजा इसे “ब्लड मून” भी कहा जाता है.

यह भी पढ़ें: Lunar Eclipse 2018: आ रहा है 21वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, 4 राशियों वाले रहें बचकर

चंद्रग्रहण का समय:

ज्योतिषाचार्य पंडित विनोद मिश्र के अनुसार 27 जुलाई को रात 11:54 बजे चंद्रग्रहण शुरू होगा और ग्रहण का मध्यकाल 1:54 बजे होगा. 28 जुलाई को सुबह 3:49 बजे पर चंद्रग्रहण खत्म हो जाएगा. 27 जुलाई को दोपहर 2.54 बजे सूतक लग रहा है. इस समय के बाद चंद्रग्रहण के मोक्ष समय तक यानी समाप्त होने तक कोई शुभ कार्य नहीं होगा.

सावन और धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.