Lunar Eclipse 2019: इस साल का पहला चंद्र ग्रहण 21 जनवरी को होने वाला है. जो कि भारतीय ज्योतिष शास्त्र में एक महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है. पूर्णिमा की रात्रि में चंद्रग्रहण के घटित होने से प्रकृति और मानव जीवन में कई बदलाव देखने को मिलते हैं. ये परिवर्तन अच्छे और बुरे दोनों प्रकार के हो सकते हैं. जिस तरह चंद्रमा के प्रभाव से समुद्र में ज्वार भाटा आता है, ठीक उसी प्रकार चंद्र ग्रहण की वजह से मानव समुदाय प्रभावित होता है. हर वर्ष पृथ्वी पर चंद्र ग्रहण घटित होते हैं. इस साल 2019 में दो चंद्र ग्रहण होंगे. आइये जानते हैं चंद्रग्रहण के समय हमें क्‍या करना चाहिए और क्‍या नहीं करना चाहिए. Also Read - 2021 में चार ग्रहण होंगे, पूरी तरह से ढँक जाएंगे चांद और सूरज, जानें डेट और समय

Also Read - Moon Surface: चांद की सतह से नमूने लाने की तैयारी में हमारा पड़ोसी देश, क्या बनेगा रिकॉर्ड?

21 जनवरी को है साल का पहला चन्‍द्रग्रहण, जानिए सही समय व किस राशि के लोग होंगे प्रभावित Also Read - Chinese Spacecraft Lands On Moon: चांद पर उतरा चीन का अंतरिक्षयान 'Change 5', जानें इसके मायने...

चन्‍द्रग्रहण के समय क्या न करें

1. किसी भी नये कार्य की शुरुआत करने से बचें

2. न भोजन बनाएं और न भोजन ग्रहण करें

3. मलमूत्र और स्नान अत्यंत आवश्यक होने पर ही करें

4. मूर्ति पूजा और मूर्तियों का स्पर्श न करें, न ही तुलसी के पौधे का स्पर्श करें

Kumbh Mela 2019: कब है अगला शाही स्‍नान, किस दिन से श्रद्धालु शुरू करेंगे कल्‍पवास

चंद्रग्रहण के समय क्या करें

1. प्राणायाम और व्यायाम करना चाहिए.

2. चंद्र देव की आराधना करना चाहिए.

3. चंद्र मंत्र “ॐ क्षीरपुत्राय विद्महे अमृत तत्वाय धीमहि तन्नो चन्द्रः प्रचोदयात् ” का जप करें.

4. चंद्रग्रहण समाप्त होने के बाद घर में शुद्धता के लिए गंगाजल का छिड़काव करें.

5. स्नान के बाद भगवान की मूर्तियों को स्नान कराएँ और उनकी पूजा करें.

6. ग्रहण समाप्त होने पर ताजा भोजन बनाएँ और खाएं. याद रखें अगर भोजन पहले से बना हुआ है तो ग्रहण से पूर्व उसमें तुलसी डाल दें ताकि वह भोजन दूषित न हो.

7. चंद्रग्रहण के बाद जरुरतमंद व्यक्ति और ब्राह्मणों को अनाज का दान करें.

Kumbh 2019: कुंभ में आने वाले नागा साधुओं के बारे में वो बातें, जिससे आप भी होंगे अंजान

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.