Magh Mass Importance:  शुक्रवार यानी 29 जनवरी से माघ का महीना शुरू होने वाला है. माघ का यह महीना 27 फरवरी 2021 तक रहेगा. माघ हिंदू पंचांग के अनुसार वर्ष का ग्यारहवाँ महीना है. माघ का यह महीना स्नान, दान के लिए काफी शुभ माना जाता है. माघ के महीने में किसी नदी में स्नान करने से व्यक्ति को भगवान विष्णु का खास आशीर्वाद मिलता है. Also Read - Magh Mass Important Festival: 29 जनवरी से शुरू हो रहा है माघ का पवित्र महीना, इस दौरान आएंगे ये खास त्योहार

बता दें कि शास्त्रों में भी माघ के महीने को स्नान, दान और उपवास के लिए काफी खास माना जाता है. इस महीने में जो व्यक्ति भक्तिभाव से किसी भी पवित्र नदी में स्नान करता है वह तमाम पापों से मुक्त हो जाता है. धर्मराज युधिष्ठिर ने महाभारत युद्ध के दौरान मारे गए अपने रिश्तेदारों को सदगति दिलाने हेतु मार्कण्डेय ऋषि के कहने पर कल्पवास किया था. गौतमऋषि द्वारा शापित इंद्रदेव को भी माघ स्नान के कारण श्राप से मुक्ति मिली थी. माघ के धार्मिक अनुष्ठान के फलस्वरूप प्रतिष्ठानपुरी के नरेश पुरुरवा को अपनी कुरूपता से मुक्ति मिली थी. माघ मास में जो पवित्र नदियों में स्नान करता है उसे एक विशेष प्रकार की सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है ,जिससे उसका शरीर निरोगी और आध्यात्मिक शक्ति से संपन्न हो जाता है.

माना जाता है कि सभी पापों से मुक्ति और भगवान जगदीश्वर की कृपा  प्राप्त करने के लिए प्रत्येक मनुष्य को माघ स्नान कर सूर्य मंत्र का उच्चारण करते हुए सूर्य को अर्घ्य अवश्य प्रदान करना चाहिए . इस महीने में यदि कोई व्यक्ति सूर्य की मानसिक आराधना भी करता है तो वह समस्त व्याधियों से रहित होकर सुखपूर्वक जीवन व्यतीत करता है . व्यक्ति को अपने कल्याण के लिए सूर्यदेव की पूजा अवश्य करनी चाहिए .