Maha Shivratri 2019: महाशिवरात्रि चार मार्च 2019, सोमवार को मनाई जाएगी. ऐसी मान्‍यता है कि महाशिवरात्रि के दिन जो भक्‍तगण व्रत-उपवास करके रात्रि जागरण करते हैं. उन्‍हें मरणोपरांत शिवलोक की प्राप्ति अवश्‍य होती है.

Mahashivratri 2019: कब है महाशिवरात्रि, जानिए शुभ मुहूर्त, व्रत का महत्व और पूजन विधि

शिवपुराण के अनुसार, इस संसार में सब कुछ भगवान शिव के अधीन है. शिव के बिना कोई भी कार्य संभव नहीं है. महाशिवरात्रि के दिन रुद्राभिषेक करने का अपना विशेष महत्‍व होता है. रुद्री के पाठ से भगवान शिव अत्‍यंत प्रसन्‍न होते हैं. महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को मदार का पुष्‍प, धतूरा, बिल्‍वपत्र, गाय का दूध अथवा गंगाजल चढ़ाने का विधान है. इससे भगवान शिव अत्‍यंत प्रसन्‍न होते हैं और अपने भक्‍तों को आशीर्वाद देते हैं.

Mahashivratri 2019: महाशिवरात्रि पर कैसे करें भगवान शिव की पूजा, जानिए व्रत का तरीका

महाशिवरात्रि का महत्‍व
वैसे तो हर माह में मास शिवरात्रि पड़ती है लेकिन फाल्‍गुन मास कृष्ण पक्ष की महाशिवरात्रि का अपना विशेष महत्‍व है. जो लोग साल भर मास शिवरात्रि को पूजा न करें और यदि वे महाशिवरात्रि के दिन पूजा कर लेते हैं तो साल भर का फल उन्‍हें महाशिवरात्रि के दिन मिल जाता है. ऐसी मान्‍यता है कि महाशिवरात्रि प्रहर की आरती अवश्‍य करनी चाहिए. ऐसा करने से भगवान शिव का आशीर्वाद पूर्ण रूप से प्राप्‍त किया जा सकता है.

महाशिवरात्रि का शुभ मुहूर्त
4 मार्च को महाशिवरात्रि का पारण होगा.

संगम से साधुओं का काशी कूच, महाशिवरात्रि स्‍नान को दिया नारा- ‘अब चलो महादेव के धाम’

पूजा का शुभ मुहूर्त
सुबह 7:04 बजे से दोपहर 15:20 बजे तक
महाशिवरात्रि 4 मार्च 2019, सोमवार

चारधाम यात्रा 2019: कब खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट, इस दिन तय होगी तारीख

शिवरात्रि पूजा मुहूर्त
निशीथ काल पूजा मुहूर्त 24:07 से 24:57 बजे
शिवरात्रि व्रत पारण समय 06:46 से 15:26 बजे (5 मार्च 2019, मंगलवार)

Maha Shivratri 2019: राशि के अनुसार जानें महाशिवरात्रि पर किस मंत्र का करें जाप

चतुर्दशी तिथि आरंभ
4 मार्च 2019, सोमवार 16:28 बजे

चतुर्दशी तिथि समाप्‍त
5 मार्च 2019, मंगलवार 19:07 बजे

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.