Maha Shivratri 2020: महाशिवरात्रि को साल के बेहद शुभ दिनों में गिना जाता है. शिवभक्‍तों के लिए तो इस दिन की महिमा ही अलग है. इस बार की महाशिवरात्रि और भी खास है. इस दिन कई दुर्लभ योग बन रहे हैं. Also Read - चारधाम यात्रा 2020: इस तारीख को खुलेंगे भगवान शिव के धाम केदारनाथ के कपाट

ज्‍योतिषीय नजरिए से इस महाशिवरात्रि को 117 साल तक की सबसे शुभ शिवरात्रि कहा जा रहा है. इस बार महाशिवरात्रि पर जो योग बन रहा है, वो इससे पहले साल 1903 में बना था. Also Read - Maha Shivratri 2020 lord shiva mahadev ujjain kashi varanasi kashi vishwanath temple worship महाशिवरात्रि: भोलेनाथ के दर्शन को उमड़े श्रद्धालु, उज्जैन से लेकर काशी तक मंदिरों में भीड़

दुर्लभ योग

ज्‍योतिषियों के अनुसार, इस साल शिवरात्रि पर शनि अपनी स्वयं की राशि मकर में होंगे. वहीं शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में होंगे. इसे एक दुर्लभ योग माना जाता है. ऐसा योग 25 फरवरी 1903 को बना था. उस दिन भी शिवरात्रि ही थी. इस योग में शिव पूजा करने से शनि, गुरु, शुक्र के दोषों से मुक्ति मिल सकती है. Also Read - Maha Shivratri 2020: राशि के अनुसार शिवलिंग पर जलाभिषेक कर चढ़ाए ये चीजे, भोलेनाथ की कृपा संग बरसेगा पैसा

इसके अलावा 21 फरवरी यानी महाशिवरात्रि के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग है. वहीं, शनि ने 23 जनवरी को मकर राशि में प्रवेश किया है, 21 फरवरी पर शनि, चंद्र के साथ होंगे. शनि-चंद्र की युति से विष योग बनेगा. इसके अलावा महाशिवरात्रि पर बुध और सूर्य, कुंभ राशि में रहेंगे. इससे बुध-आदित्य योग बनेगा.

Maha Shivratri 2020

इस साल महाशिवरात्रि (Maha Shivratri 2020) 21 फरवरी, शुक्रवार को है. हिंदू धर्म में हर माह शिवरात्रि मनाई जाती है. हर महीने की कृष्णपक्ष चतुर्दशी को मास शिवरात्रि होती है, लेकिन फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को पड़ने वाली शिवरात्रि को महाशिवरात्रि के रूप में पूजा जाता है. माना जाता है कि इसी दिन शिव-पार्वती (Shiv Parvati) का विवाह हुआ था.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.