Mahakal Sawari Ujjain: मध्य प्रदेश की धार्मिक और ऐतिहासिक नगरी उज्जैन में श्रावण मास के पहले सोमवार को बाबा महाकाल की सवारी निकली. महाकाल राजसी ठाठ-बाट से अपनी प्रजा को दर्शन देने और हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकले. मान्यता है कि बाबा महाकाल अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए शहर भ्रमण पर निकलते हैं.Also Read - Sawan 3rd Somvar 2021: सावन के तीसरे सोमवार के दिन घर पर लगा रहे हैं भगवान शिव की फोटो तो ना करें ये गलतियां

वर्षों से चली आ रही परंपरा के अनुसार श्रावण मास पर विशेष सवारी निकली जाती है, पहले सोमवार को भी सवारी निकली, इस सवारी में बड़ी संख्या में भक्तगण शामिल हुए. Also Read - Kamika Ekadashi 2021: सावन मास की कामिका एकादशी तिथि, महत्व, शुभ मुहूर्त, पूजन विधि

सवारी निकलने के पूर्व श्री महाकालेश्वर मंदिर के सभामंडप में भगवान के श्री मनमहेश स्वरुप का पूजन-अर्चन किया गया. Also Read - Rashifal (2-8 August 2021) : सावन के महीने में किन राशियों पर है भगवान शिव की कृपा, पढ़ें राशिफल

मंदिर के मुख्य द्वार पर पुलिस बल के जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर (सलामी) के पश्चात सवारी ने परिवर्तित मार्ग से रामघाट की ओर प्रस्थान किया.

भगवान महाकालेश्वर की सवारी हरसिद्धि मन्दिर के पास से, झालरिया मठ के सामने से होकर रामघाट पहुंची. नवीन सवारी मार्ग को आकर्षक वंदनवार से सजाया गया था.

रामघाट पहुंचने पर पं.आशीष पुजारी एवं पुरोहितों द्वारा भगवान महाकाल का शिप्रा जल से अभिषेक किया गया. रामघाट से सवारी हरसिद्धि मन्दिर के सामने से होकर महाकालेश्वर मन्दिर पहुंची.
(एजेंसी से इनपुट)