Mahavir Jayanti 2020: आज महावीर जयंती है. आज के दिन ही भगवान महावीर का जन्म हुआ था. हर साल चैत्र शुक्ल त्रयोदशी को महावीर जयंती पर्व मनाया जाता है. Also Read - Happy Mahavir Jayanti 2020 Wishes: महावीर जयंती पर भेजें ये शुभकामना संदेश, देखें स्पेशल Messages

भगवान महावीर जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे. उनका जन्म 599 ईसा पूर्व (BC) बिहार के कुण्डग्राम स्थान पर हुआ था. यह स्थान वैशाली जिले में है. Also Read - महावीर जयंती 2019 के मौके पर आज बंद रहेगा शेयर बाजार

भगवान महावीर ने कठोर तप से अपने जीवन पर विजय प्राप्त किया था. महावीर ने अहिंसा का संदेश दिया था. उन्होंने कहा था कि अहिंसा ही सबसे बड़ा धर्म है. Also Read - Happy Mahavir Jayanti 2019: महावीर जयंती पर भेजें Wishes, Quotes, WhatsApp Messages

जैन धर्म के अनुयायी मानते हैं कि वर्धमान ने 12 वर्षों की कठोर तपस्या के बाद अपनी इंद्रियों पर विजय प्राप्त की थी. उनके दिखाए मार्ग पर चलने वाले जैन कहलाते हैं.

भगवान महावीर के पांच सिद्धांत

 

भगवान महावीर के पांच सिद्धांत थे- अहिंसा, सत्य, अस्तेय, ब्रह्मचर्य और अपरिग्रह.

– अहिंसा
उनका कहना था कि मनुष्य को किसी भी परिस्थिति में हिंसा से दूर रहना चाहिए. भूलकर भी किसी को कष्ट ना पहुंचाए.

– सत्य
भगवान महावीर कहते हैं, हे पुरुष! तू सत्य को ही सच्चा तत्व समझ. जो बुद्धिमान सत्य के सानिध्य में रहता है, वह मृत्यु को तैरकर पार कर जाता है.

– अस्तेय
अस्तेय का पालन करने वाले किसी भी रूप में मन के मुताबिक वस्तु ग्रहण नहीं करते. संयम से रहते हैं और केवल वही लेते हैं जो उन्हें दिया जाता है.

– ब्रह्मचर्य
पूर्ण रूप से ब्रह्मचर्य का पालन करते हैं. भोग-विलास से दूर रहते हैं.

– अपरिग्रह
सभी पिछले सिद्धांतों को जोड़ता है. अपरिग्रह का पालन करके, जैनों की चेतना जागती है. वे सांसारिक एवं भोग की वस्तुओं का त्याग कर देते हैं.