Makar Sankranti 2019 Date: मकर संक्रांति का पर्व इस साल कब मनाया जाएगा? कुछ कह रहे हैं 14 जनवरी तो वहीं कुछ 15 जनवरी की तारीख बता रहे हैं. Also Read - Ganga Sagar Mela 2021: मकर संक्रांति पर पवित्र स्नान के साथ गंगासागर मेला शुरू

Also Read - Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर अनोखी कला, बनाए सोने-चांदी की पतंग, मांझा

Ekadashi 2019: देखें एकादशी कैलेंडर, किस महीने किस तारीख को रखा जाएगा कौन सा व्रत… Also Read - राजस्थान: मंकर संक्राति पर इस बार कोरोना के कारण नहीं होगा बहुचर्चित काइट फेस्टिवल

कुंभ मेला, जो मकर संक्रांति के दिन आरंभ होता है, 15 जनवरी से शुरू हो रहा है. तो इसका मतलब है कि संक्रांति 15 जनवरी की है.

कब मनाई जाती है संक्रांति

हिंदू पंचांग के अनुसार पौष माह में जब सूर्य मकर राशि में आता है तब ये पर्व मनाया जाता है.

Makar Sankranti

क्‍यों है दो तिथियां

इस साल 14 जनवरी शाम 7.52 बजे पर सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे. पर, मकर राशि का पुण्यकाल 14 जनवरी को रात 1.28 बजे से 15 जनवरी को दोपहर 12 बजे तक रहेगा. ऐसे में संक्रांति पर दान-स्नान का महत्व 15 तारीख को माना जा रहा है.

Rashifal 2019: कैसा रहेगा साल 2019, राशि अनुसार जानें किसे मिलेगी तरक्‍की, क्‍या करें-क्‍या नहीं…

कब मनेगी संक्रांति

पंडितों का कहना है चूंकि सूर्योदय की तिथि को प्राथमिकता दी जाती है, ऐसे में 15 जनवरी के सूर्योदय पर ही संक्रांति होगी.

क्‍या होगा इस दिन

मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्‍य का काफी महत्‍व होता है. इस दिन खिचड़ी का भोग लगाने की परंपरा है. इसके अलावा गुड़-तिल, रेवड़ी, गजक आदि का प्रसाद बांटा जाता है. वास्‍तव में यह त्योहार प्रकृति, ऋतु परिवर्तन और खेती से जुड़ा हुआ है. इस दिन सूर्य पूजा होती है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.