Makar Sankranti 2020: मकर संक्रांति का हिंदू धर्म में काफी महत्‍व है. इस दिन से सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं. साथ ही शुभ कार्यों की शुरुआत भी होती है. Also Read - Makar Sankranti 2021: सदियों से गोरखनाथ मंदिर में Khichdi पर होता आया है ये काम, जानें महत्व

Makar Sankranti 2020 Date: हिंदू पंचांग के अनुसार पौष माह में जब सूर्य मकर राशि में आता है तब ये पर्व मनाया जाता है. इस माह 15 जनवरी को ये पर्व मनाया जाएगा. Also Read - Makar Sankranti 2021 Date: मकर संक्रांति तिथि, इस साल बन रहे बेहद शुभ योग

Festivals in January 2020: मकर संक्रांति, बसंत पंचमी समेत जनवरी के व्रत-त्‍योहार, इस दिन चंद्र ग्रहण… Also Read - Shubh Vivah Muhurat 2020: आने वाले दो महीनों में बस इतने दिन हैं शादी के शुभ मुहूर्त, 2021 का ऐसा रहेगा हाल

महत्‍व
शास्त्रों के अनुसार, उत्तरायण को देवताओं का दिन यानी सकारात्मकता का प्रतीक माना गया है. चूंकि इस दिन सूर्य उत्‍तरायण होते हैं, इसलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान, का खास महत्व है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन किया गया दान, सौ गुना बढ़कर वापस मिल जाता है.

क्‍या करें इस दिन
मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्‍य का काफी महत्‍व होता है. इस दिन खिचड़ी का भोग लगाने की परंपरा है. इसके अलावा गुड़-तिल, रेवड़ी, गजक आदि का प्रसाद बांटा जाता है.

मकर संक्रांति को यूपी और बिहार में खिचड़ी भी कहा जाता है, क्‍योंकि इस दिन घरों में विशेष रूप से खिचड़ी बनाई जाती है और गुरु गोरखनाथ जी को चढ़ाई जाती है. साथ ही लोग खिचड़ी खाते हैं. साथ ही दूसरों को बांटते भी हैं.

शुभ कार्यों की शुरुआत
मकर संक्रांति से शुभ कार्यों की शुरुआत होती है. खरमास की समाप्ति होती है. संक्रांति के बाद विवाह, गृह प्रवेश जैसे कार्य आरंभ हो जाते हैं.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.