Malmas 2020 Date: मलमास का महीना अशुभ माना जाता है. इस महीने में हर तरह के शुभ कार्य करने पर रोक होती है. इसे पुरुषोत्तम मास या अधिक मास भी कहा जाता है. Also Read - Malmas 2020: जानें क्यों भगवान विष्णु को प्रिय है अधिकमास, इस दौरान इन कामों को करने से आ सकती है भारी विपत्ति

अधिक मास तीन साल के बाद लग रहा है. पितृपक्ष खत्म होते ही मलमास का महीना आरंभ हो जाएगा. Also Read - Malmas 2020 Mantra: मलमास में करें भगवान विष्णु के इन मंत्रों का जाप, पूरी होगी हर मनोकामना

Malmas 2020
इस बार मलमास 18 सितंबर से शुरू होगा. ये 16 अक्टूबर तक रहेगा. इसमें भगवान विष्णु की पूजा होती है. इसके खत्म होने के बाद 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र शुरू होंगे. Also Read - Malmas 2020: आज से शुरु हो रहा है अधिक मास, जानें इस दौरान क्या करें और क्या नहीं

क्या होता है मलमास
हिन्दू पंचांग में 12 महीने होते हैं. इसका आधार सूर्य और चन्द्रमा होता है. सूर्य वर्ष 365 दिन और करीब 6 घंटे का होता है, वहीं चंद्र वर्ष 354 दिनों का माना जाता है. इन दोनों वर्षों के बीच करीब 11 दिनों का फासला होता है.

यह फर्क तीन साल में एक महीने के बराबर हो जाता है. इसी अंतर को पाटने के लिए हर तीन साल में एक चंद्र मास अस्तित्व में आता है. बढ़ने वाले इस महीने को ही अधिक मास या मलमास कहा जाता है.