Margashirsha Amavasya Significance: मार्गशीर्ष मास में आने वाली अमावस्या को मार्गशीर्ष अमावस्या कहा जाता है. इसे अगहन अमावस्या या श्राद्धादि अमावस्या भी कहा जाता है. हिन्दू धर्म में अमावस्या का खास महत्व है. अगहन महीने में आने वाली अमावस्या का विशेष महत्व इसलिए माना जाता है, क्योंकि यह मां लक्ष्मी को समर्पित माह में आता है. मार्गशीर्ष माह में मां लक्ष्मी की खास पूजा होती है.

इस बार मार्गशीर्ष अमावस्या 7 दिसंबर को है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन व्रत करने से पापों का नाश होता है. इस दिन मां लक्ष्मी की भी पूजा होती है.

Margashirsha Amavasya 2018: मार्गशीर्ष अमावस्या तारीख, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

मार्गशीर्ष अमावस्या का महत्व:

मार्गशीर्ष अमावस्या को श्राद्धादि अमावस्या भी कहा जाता है. क्योंकि इसे सर्वपितृ अमावस्या की तरह ही मनाया जाता है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन विधिवत पूजन और व्रत से पितर प्रसन्न होते हैं और पितृ दोष कटता है. मार्गशीर्ष अमावस्या करने से कुंडली के दोष भी समाप्त होते हैं. जैसे कि राहू नीच हो तो मार्गशीर्ष अमावस्या करना लाभकारी होता है.

ऐसी मान्यता है कि जो लोग संतान सुख से बंचित हैं, उन्हें यह अमावस्या व्रत जरूर करना चाहिए. उन्हें मनवांछित फल प्राप्त होता है. रुके हुए काम हो जाते हैं और कार्य की कठिनाइयां खत्म हो जाती हैं.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.