मासिक शिवरात्रि (Masik Shivratri) का हिंदू धर्म में विशेष महत्‍व है. इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती का पूजन करने से विशेष कृपा प्राप्‍त होती है.

Masik Shivratri Date
साल 2019 की अंतिम मासिक शिवरात्रि 24 दिसंबर, मंगलवार को है.

सूर्य ग्रहण 2019: कब लगेगा इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानिए ग्रहण का सही समय

Masik Shivratri Significance
ऐसा माना जाता है कि मासिक शिवरात्रि की मध्य रात्रि में भगवान शिव लिंग के रुप में प्रकट हुए थे. यह रात फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि थी. इसे महाशिवरात्रि कहा जाता है. इसके अलावा हर माह की कृष्‍ण पक्ष चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि पर्व के रूप में मनाया जाता है, जिसे मासिक शिवरात्रि के नाम से जाना जाता है. इस दिन जो भक्त शिव आराधना करते हैं, उनकी हर इच्छा महादेव पूरी करते हैं.

पूजा विधि
सूर्योदय से पूर्व स्‍नान करें. शिव मंदिर जाएं. मंदिर जाना संभव ना हो घर में ही पूजन करें. भगवान शिव का अभिषेक गंगाजल या दूध से करें. बेल पत्र और धूप-दीप अर्पित करें. शिव चालिसा, शिव अष्टक तथा शिव स्तुति करें. भगवान शिव की आरती करें.

भगवान भोलेनाथ के ये हैं 108 नाम, इनको पढ़ने मात्र से दूर हो जाते हैं सारे कष्ट

व्रत विधि
इस व्रत में फलाहार किया जाता है. शाम को स्नान कर भगवान शिव का पूजन करें. अगले दिन व्रत खोलें.

Masik Shivratri 2019 Puja Muhurat
मासिक शिवरात्रि – दिन – मंगलवार – तिथि – 24 दिसंबर 2019 – मुहूर्त समय- 23:53 से 24:48

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे