Masik Shivaratri 2020 का हिंदू धर्म में काफी महत्‍व है. हर माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है. इस दिन शिव पूजा की जाती है.

Masik Shivaratri 2020 Date

मासिक शिवरात्रि इस बार 23 जनवरी, गुरुवार यानी आज है.

Mauni Amavasya 2020: मौनी अमावस्‍या पर स्‍नान-दान का मुहूर्त, व्रत विधि, जानें क्‍या करें-क्‍या नहीं

शुभ मुहूर्त

मासिक शिवरात्रि पर पूजन का शुभ मुहूर्त 23 जनवरी, गुरुवार को रात 12:24 से 1:16 तक का है. शिवरात्रि पर रात्रि जागरण का भी काफी महत्‍व है. इसलिए जागरण, पूजन रात में ही करना चाहिए.

मासिक शिवरात्रि महत्व

शास्त्रों में शिवरात्रि पूजन का महत्‍व बताया गया है. इस व्रत को करके देवी-देवताओं ने मनचाहा वरदान पाया है. भगवान शिव के पूजन के लिए उचित समय प्रदोष काल माना जाता है. शिव पुराण के अनुसार, इस दिन व्रत करके भगवान शिव की पूजा-अर्चना करने से सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं. जीवन की मुश्किलें दूर होती हैं.

Pradosh Vrat Calendar 2020: बुध प्रदोष से शुरू होकर नए साल में कुल 25 प्रदोष व्रत, देखें कैलेंडर…

पूजन विधि

मासिक शिवरात्रि वाले दिन सूर्योदय से पहले उठें. स्नान करें. भगवान शिव का ध्‍यान कर व्रत का संकल्‍प लें.

फिर किसी मंदिर में जाकर भगवान शिव की पूजा करें. शिवलिंग पर जल, घी, दूध, शक्‍कर, शहद, दही आदि अर्पित करें. बाबा भोलेनाथ को बेलपत्र, धतूरा आदि चढ़ाएं. शिव पूजा करते समय ऊं नम: शिवाय का लगातार जप करें.

शिव पूजा करते समय शिव पुराण, शिव स्तुति, शिव अष्टक, शिव चालीसा और शिव श्लोक का पाठ करें.

भगवान शिव का पूजन मां पार्वती के साथ करें. दोनों का एक साथ पूजन करने से इस व्रत का फल दोगुना हो जाता है. रात्रि में शिव पूजन करने के बाद भगवान को भोग लगाएं. प्रसाद वितरित करें. अगले दिन भगवान शिव की पूजा करें और दान के बाद व्रत खोलें.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.