Mauni Amavasya 2020: मौनी अमावस्या 2020 या माघी अमवास्या 2020 आने वाली है. इस अमावस्‍या का हिंदू धर्म में काफी महत्‍व है.

इस दिन स्‍नान का महत्‍व है. मान्यता यह है कि इस दिन गंगा नदी का जल अमृत तुल्‍य हो जाता है. मौनी अमावस्‍या पर मौन धारण करते हुए स्‍नान-दान करने का विधान है.

Mauni Amavasya 2020 Date

मौनी अमावस्या 24 जनवरी, शुक्रवार को है. माघ मास की यह अमावस्या शुक्रवार के दिन पड़ने से और भी खास हो गई है.

Panchang 2020 Hindu Calendar: होली, करवाचौथ, दिवाली, कब पड़ेगा कौन सा त्‍योहार, देखें 2020 का कैलेंडर

मौनी अमावस्‍या महत्‍व 

मौनी अमावस्या पर मौन धारण कर मन को संयमित करना चाहिए. विचारों में मलिनता न आने दें. भगवान विष्णु या भगवान शिव की पूजा करनी चाहिये. शास्त्रों में इस दिन दान-पुण्य करने के महत्व को बहुत ही अधिक फलदायी बताया गया है. तीर्थराज प्रयाग में स्नान का और अधिक महत्‍व है. एक मान्यता के अनुसार, इस दिन मनु ऋषि का जन्म भी माना जाता है जिसके कारण इस दिन को मौनी अमावस्या के रूप में मनाया जाता है.

मौनी अमावस्या दान

मौनी अमावस्या को तिल, तिल के लड्डू, तिल का तेल, आंवला, वस्त्र आदि दान करने की परंपरा है. जरूरतमंदों को कम्बल, सर्दी के वस्त्र आदि दान करने चाहिए.

Pradosh Vrat Calendar 2020: बुध प्रदोष से शुरू होकर नए साल में कुल 25 प्रदोष व्रत, देखें कैलेंडर…

अमावस्या पिंडदान

ऐसी भी मान्यताएं हैं कि अमावस्या के दिन गंगा स्नान के बाद पितरों को जल देने से उनको तृप्ति मिलती है. इस दिन तीर्थस्थलों पर पिंडदान करने का विशेष महत्व है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.