नई दिल्ली: नाग पंचमी (Nag Panchami 2020) सम्पूर्ण भारत में, हिन्दुओं द्वारा की जाने वाली नाग देवताओं की एक पारम्परिक पूजा है. हिन्दु कैलेण्डर में, नाग देवताओं के पूजन हेतु कुछ विशेष दिन शुभ माने जाते हैं तथा श्रावण माह की पंचमी तिथि को नाग देवताओं के पूजन के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण माना जाता है. सावन माह की शुक्ल पक्ष पंचमी को नाग पंचमी Nag Panchami 2020 के रूप में मनाया जाता है. सामान्यतः नाग पंचमी का पर्व हरियाली तीज के दो दिन बाद आता है. इस साल नाग पंचमी 25 जुलाई को पड़ रही है. ऐसे में आज हम नाग पंचमी से पहले आपको इससे जुड़ी कुछ खास बातें बताने जा रहे हैं. ताकि आपके द्वारा किसी प्रकार की कोई गलती ना हो. आइए जानते हैं उन बातों के बारे में- Also Read - Nag Panchami 2020 Mantra: नाग पंचमी के दिन करें इन मंत्रों की जाप, दूर हो जाएंगे सभी दुख

नाग पंचमी  (Nag Panchami 2020 Precautions) के दिन ना करें ये काम Also Read - Nag Panchami 2020 Date & Time: 25 जुलाई को मनाई जाएगी नाग पंचमी, जानें शुभ मुहूर्त, महत्व और पूजा विधि

– किसान लोग नाग पंचमी के दिन गलती से भी खेत में हल ना चलाएं. इससे उन्हें भारी नुकसान हो सकता है.

– नाग पंचमी के दिन सुई धागे का इस्तेमाल नहीं किया जाता है. इस दिन गलती से भी सुई में धागा ना पिरोए.

– नाग पंचमी के दिन गैस पर तवा नहीं रखना चाहिए. अगर ऐसा कोई करता है तो सापों को तकलीफ होती है. और ना ही किसी से लड़ाई झगड़ा करना चाहिए. इस दिन परिवारजनों से कोई कटु शब्द ना कहें.

– नाग पंचमी के दिन लोह के बर्तनों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. इस दिन लोहे के बर्तन में ना तो खाना बनाए और ना ही खाएं.

नाग पंचमी का महत्व ( Nag Panchami Importance)

हिंदू धर्म में सांपों की पूजा कई सालों से होती आ रही है. इस दिन सांपों की पूजा करने वाले व्यक्तियों को सांपों के डसने का खतरा नहीं होता है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन सर्पों को दूध से स्नान और पूजन कर दूध से पिलाने से अक्षय-पुण्य की प्राप्ति होती है. कई जगह इस दिन घर के प्रवेश द्वार पर नाग चित्र बनाने की भी परम्परा है. मान्यता है कि इससे वह घर नाग-कृपा से सुरक्षित रहता है.