नई दिल्ली: नरसिंह जयंती (narasimha jayanti 2020) के दिन ही भगवान विष्णु ने आधा नर और आधा सिंह का अवतार लिया था जिसे नरसिंह अवतार के रूप में जाना जाता है. इस पर्व को पूरे देश में मनाया जाता है. दक्षिण भारत में वैष्णव संप्रदाय के मानने वाले इस पर्व को बहुत श्रद्धा भाव से मनाते हैं. मान्यता है कि नरसिंह भगवान विपत्ति के समय अपने भक्तों की रक्षा करते हैं. नरसिंह जयंती वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है. इस बार यह चतुर्थी 6 मई यानी आज पड़ रही है.

माना जाता है कि नरसिंह भगवान हर बड़े संकट से बचाते हैं. जिन लोगों के जीवन में आर्थिक संकट बना हुआ है, शत्रु परेशान कर रहे हैं या फिर कोई रोग लगातार पीड़ा पहुंचा रहा है तो ऐसे में नरसिंह जयंती पर भगवान नरसिंह की पूजा अच्छे परिणाम देने वाली मानी जाती है.

नरसिंह जयन्ती (Narasimha Jayanti 2020) मुहूर्त

नरसिंह जयन्ती मध्याह्न संकल्प का समय – १०:५८ से १३:३८
चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ – मई ०५, २०२० को २३:२१ बजे
चतुर्दशी तिथि समाप्त – मई ०६, २०२० को १९:४४ बजे

नरसिंह जयन्ती 2020 पूजा विधि
भगवान नरसिंह की पूजा शाम के समय की जाती है. इस दिन भगवान नरसिंह की जल, प्रसाद, फल और पुष्प अर्पित करें. भगवान विष्णु पीतांबर प्रिय है इस दिन इसका अर्पण करना चाहिए. पूजा समापन के बाद जरुरमंदों को दान करें.