Navtapa 2019: जब जेठ के महीने में गर्मी के कारण लोगों का हाल बेहाल हो जाए. तो समझ लेना चाहिए कि नौतपा की शुरुआत हो गई है. नौतपा जेठ के महीने में पड़ने वाला वह नौ दिन है, जिसमें भीषण गर्मी पड़ती है. जिसकी शुरुआत 25 मई को हो चुकी है. नौतपा तीन जून के बाद खत्म होगा.

रविवार के दिन करें सूर्यदेव की पूजा, पढ़ें ये मंत्र, सफलता कदम चूमेगी

नौतपा में क्यों पड़ती है भीषण गर्मी
ऐसी मान्यता है कि रोहिणी नक्षत्र में सूर्य के प्रवेश के दौरान नौतपा आरंभ होता है और इन नौ दिनों में सूर्य की किरणें सीधी धरती पर अपनी तपिश छोड़ती हैं जिस कारण इन नौ दिनों में भीषण गर्मी पड़ती है. इस साल सूर्य 25 मई से रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर गया है, जो 3 जून तक रहेगा. इस समय में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में होते हैं उस समय चन्द्र नौ नक्षत्रों में भ्रमण करते हैं, यही कारण है कि इसे नौतपा कहा जाता है. रोहिणी के दौरान अगर बारिश होती है, तो इसे आम भाषा में रोहिणी का गलना कहा जाता है.

शनिदेव को प्रसन्न करने के 5 बेजोड़ उपाय, करके तो देखें…

नौपता पर क्या कहता है विज्ञान
वैज्ञानिक मतानुसार नौतपा के दौरान सूर्य की किरणें सीधी पृथ्वी पर आती है. इस कारण तापमान बढ़ता है. अधिक गर्मी के कारण मैदानी क्षेत्रों में निम्न दबाव का क्षेत्र बनता है जो समुद्र की लहरों को आकर्षित करता है. इस कारण ठंडी हवाएं मैदानों की ओर बढ़ती है. चूंकि समुद्र उच्च दबाव वाला क्षेत्र होता है इसलिए हवाओं का यह रूख अच्छी बारिश का संकेत देता है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.