Navratri 2018: नवरात्र‍ि के नौ दिनों के दौरान मां दुर्गा के नौ अलग-अलग स्‍वरूपों की पूजा होती है. हर स्‍वरूप का अलग महत्‍व है. नवरात्र‍ि के सातवें दिन है मां दुर्गा के सातवें स्‍वरूप मां कालरात्र‍ि का पूजन होती है. मंगलवार 16 अक्टूबर को मां कालरात्रि की पूजा होगी. Also Read - Shardiya Navratri 2020 Day 7: महासप्‍तमी के दिन ऐसे करें मां कालरात्रि की पूजा, जानिए विधि औऱ मंत्र

Also Read - #Navratri 2018 9th Day: नवमी को इस विधि से करें मां सिद्धिदात्री की पूजा, पढ़ें मंत्र, आरती और महत्व

मां दुर्गा का कालरात्र‍ि स्‍वरूप भयानक है. इनके शरीर का रंग घने अंधकार की तरह बिल्‍कुल काला है. ऐसी मान्‍यता है कि मां कालरात्र‍ि की उपासना करने वाले जातकों को शत्रुओं पर विजय का आर्शीवाद प्राप्‍त होता है. मां उनकी रक्षा काल से भी करती हैं. Also Read - Navmi Kanya Pujan Shubh Muhurt: नवमी के दिन कन्या पूजन के दो शुभ मुहूर्त, जानिये

गुरु ग्रह ने किया वृश्चिक राशि में प्रवेश, इन 7 राशियों की बढ़ जाएगी मुसीबत

पूजन विधि

मां कालरात्र‍ि की पूजा के लिए सबसे पहले दीपक और धूप जलाएं. फिर मां को लाल फूल चढ़ाएं. इसके बाद बेसन के लड्डू और केले का भोग लगाएं और मां को लाल चुनरी चढ़ाएं. कहते हैं मां कालरात्र‍ि को गुड़ से बने पकवान यदि चढ़ाया जाए तो मां जल्‍दी प्रसन्‍न होती हैं. यही नहीं मां को नारियल का लड्डू चढ़ाने और प्रसाद के रूप में बांटने से मां खुश होती हैं. इसलिए कालरात्र‍ि माता को गुड़ का कोई भी एक पकवान और नारियल का लड्डू जरूर चढ़ाएं. मां को पीला झंडा चढ़ाएं और उसे अपनी छत पर लगा दें.

#नवरात्रि 2018: नवरात्र‍ि के नौ द‍िन, पहने ये खास 9 रंग, प्रसन्न होंगी देवी मां

खास उपाय

अगर आप जीवन में किसी वजह से परेशान हैं और वह परेशानी कम नहीं हो रही है तो आज किया गया यह उपाय आपको सभी कष्‍टों और शत्रुओं से छुटकारा दिला सकता है. जानिये क्‍या करना होगा.

धूप और दीप जलाकर मां को लाल चुनरी चढ़ाएं और फूल, फल व सभी प्रसाद चढ़ा दें. इसके बाद मां को लाल तिकोना झंडा अर्पित करें और उसे अपने छत पर फहरा दें. यदि आप दुश्‍मनों पर विजय हासिल करना चाहते हैं तो आज माता को चांदी से बना त्र‍िशूल चढ़ाएं और उसे अपने पास रख लें. ऐसा करने के बाद आपको अपने शत्रुओं से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगा.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.