शारदीय नवरात्रि अगले महीने 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक चलेंगे इस त्यौहार की धूम पूरे देश में होती है. हर राज्य में मां का स्वागत अपने ही अंदाज में किया जाता है. कोलकाता में मां की मूर्तियां और पंडालों की सजावट देखते ही बनती है और वहीं गुजरात के गरबे का तो क्या है कहना. लेकिन इस साल कोरोना की वजह से हर राज्य सरकार ने इस त्यौहार पर रोक लगा दी है ताकि लोग सुरक्षित रहें और ये बीमारी और तेजी से अपने पांव न पसार सके.Also Read - Navratri 2020 Kanya Pujan: आज अष्टमी-नवमी, इस शुभ मुहूर्त पर करें कन्या पूजन, ये है पूजा की विधि

नवरात्रि के मौके पर वैसे तो हर कोई अपने तरीके से इस त्यौहार को मनाता है लेकिन गुजरात में इसका असर कुछ खास ही होता है. हर वर्ग की बीच गुजरात के गरबे का प्यार देखते ही बनता है. हर किसी को हर साल केवल नवरात्रि के गरबे का इंतजार होता है, हालांकि इस साल वहां पर नवरात्रि महोत्सव की वो रौनक देखने को नहीं मिलेगी और ना ही इसे धूमधाम से सेलिब्रेट किया जाएगा. Also Read - Navratri 2020: शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए माता दुर्गा की पान के पत्तों से करें पूजा, मनोकामनाएं होंगी पूरी

गुजरात सरकार का फैसला
गुजरात सराकर ने फैसला लिया है कि इस साल राज्य के किसी भी कोने में नवरात्रि महोत्सव का आयोजन नहीं किया जाएगा. शारदीय नवरात्रि अगले महीने 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक रहेंगे. वहां के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इसकी घोषणा कर दी. रूपाणी ने कहा कि, हर बार की तरह इस वर्ष भी 17 से 25 अक्टूबर तक राज्य कक्षा के नवरात्रि महोत्सव का आयोजन होना था, लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए इस आयोजन को रद्द करने का निर्णय लिया गया है. Also Read - Navratri 2020 Sandhi Puja: क्या होती है संधि पूजा? जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

गुरात के डॉक्टरों की अपील
दरअसल गुजारत के डॉक्टरों ने वहां की सरकार से ये अपील की थी इस साल नवरात्रि के आयोजन को रद्द कर दिया जाए, ताकि कोरोना का आंकड़े और तेजी से ना बढ़े. बता दें कि गुजारत में करीब लाख मामले सामने आ चुके हैं ऐसे में मेडिकल एसोसिएशन के डॉक्टर्स ने सरकार को पत्र लिखकर गुजरात में नवरात्रि का आयोजन नहीं कराने का आग्रह किया था. डॉक्टर्स को डर है कि नवरात्रि के आयोजन से राज्य में कोरोना विस्फोट हो सकता है.

गरबा आयोजन पर भी रोक
सरकार की तरफ से जारी फैसले में गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने बताया कि इस साल राज्य में नवरात्रि का आयोजन नहीं किया जाएगा.सरकार के इस फैसले के बाद राज्य के बड़े गरबा आयोजकों ने भी इस साल गरबा आयोजन से इनकार कर दिया है. हालांकि इस दौरान लोगों को मुंह पर मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ख्याल रखना होगा.