New Year 2020: साल 2020 दस्तक देने वाला है. हर साल की तरह इस नए साल में भी आपके राशिफल में काफी उतार-चढ़ाव होंगे. ज्‍योतिषीय दृष्टि से इस साल शनि की चाल बदलेगी और ढैया, साढ़ेसाती का प्रभाव अन्‍य राशियों पर प्रभावी होगा.

इस साल शनि ग्रह 24 जनवरी को धनु राशि से अपनी स्वराशि मकर में गोचर करेगा. 11 मई से 29 सितंबर तक यह मकर राशि में वक्री होगा और 27 दिसंबर को अस्त. धनु और मकर राशि में पहले ही शनि साढ़े साती का प्रभाव चल रहा था. अब कुंभ राशि के लिए साढ़े साती का पहला चरण भी शुरू हो जाएगा.

Shani Vrat: न्याय के देवता हैं शनिदेव, जानिए लोग क्यों चढ़ाते हैं सरसों का तेल

मेष
मेष राशि के जातकों को शनि से डरने की जरूरत नहीं. शनि की साढ़े साती का प्रभाव नहीं रहेगा.

वृष
वृष राशि के जातक का साल 2020 में शनि की साढ़े साती से दूर-दूर का कोई नाता नहीं है.

मिथुन
कुंडली में शनि की साढ़े साती नहीं है.

कर्क
कर्क राशि के जातकों के ऊपर शनि की साढ़े साती का प्रभाव नहीं रहेगा.

सिंह
सिंह राशि के जातक शनि की साढ़े के प्रभाव में नहीं आएंगे.

कन्या
वर्ष 2020 में कन्या राशि पर शनि की साढ़े साती का असर नहीं होगा.

तुला
शनि की साढ़े साती का असर तुला राशि के जातकों पर नहीं पड़ेगा.

कैसे बचें शनिदेव के प्रकोप से ? अपनाइये ये 4 उपाय

वृश्चिक
वृश्चिक राशि के जातकों की कुंडली पर शनि की साढ़े साती नहीं है.

धनु
शनि की साढ़े साती का प्रभाव रहेगा. शनि की साढ़े साती आपके अंतिम चरण में है.

मकर
शनि का गोचर आपकी राशि में ही हो रहा है. इसलिए इस साल आप शनि की साढ़े साती के दूसरे चरण में रहेंगे.

कुंभ
साढ़े साती का प्रथम चरण शुरु हो रहा है, जो अगले पांच सालों तक कुंडली में रहने वाला है.

मीन
मीन राशि के जातकों की कुंडली में शनि की साढ़े साती नहीं है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.