Nirjala Ekadashi 2021 Shubh Yog: हिंदू पंचांग के अनुसार, ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी के नाम से जाना जाता है. इसे भीमसेन, पांडव और भीम एकादशी (Bheem Ekadashi) के नाम से जाना जाता है. निर्जला एकादशी (Nirjala Ekadashi 2021) के दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) के साथ माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाती है. इस दिन व्रत करने वाले व्यक्ति को बिना पानी पिएं रहना होता है. इस साल निर्जला एकादशी 21 जून को मनाई जाएगी.Also Read - Nirjala Ekadashi 2021 Wishes: निर्जला एकादशी के दिन प्रियजनों को भेजें खास संदेश, दें इस शुभ दिन की बधाई

बन रहा है सिद्धि योग

निर्दला एकादशी इस साल सोमवार के दिन पड़ रही है ऐसे में इस दिन शिव और सिद्धि योग बन रहा है जिस कारण इस एकादशी का महत्व और भी ज्यादा बढ़ गया है. 21 जून को शाम 5:34 मिनट तक शिव योग रहेगा और इसके बाद सिद्धि योग आरंभ हो जाएगा. सिद्धि योग में व्यक्ति की सभी इच्छाएं पूर्ण होती हैं. इस दौरान में किया गया प्रत्येक कार्य सफल होता है. शिव योग को भी बहुत शुभ कहा जाता है ओैर इस दौरान किए गए धार्मिक अनुष्ठान, पूजापाठ या दान आदि का भी शुभ परिणाम मिलता है. Also Read - Nirjala Ekadashi 2021 Daan: निर्जला एकादशी के दिन जरूर करें इन चीजों का दान, पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं

निर्जला एकादशी 2021 समय

निर्जला एकादशी सोमवार, जून 21, 2021 को
एकादशी तिथि प्रारम्भ – जून 20, 2021 को 04:21 पी एम बजे
एकादशी तिथि समाप्त – जून 21, 2021 को 01:31 पी एम बजे
पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय – 10:22 ए एम Also Read - Nirjala Ekadashi 2021 Imporant Things: पहली बार रखने जा रही हैं निर्जला एकादशी का व्रत? जानें ये 10 प्रमुख बातें