Parshuram Jayanti 2021: परशुराम जयंती का हिंदू धर्म में काफी महत्व होता है. इस साल 14 मई 2021 को परशुराम जयंती (Parshuram Jayanti) मनाई जा रही है. हिंदू पंचांग के मुताबिक, हर साल वैशाख माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को परशुराम जयंती मनाई जाती है. भगवान परशुराम को विष्णु जी का अवतार माना जाता है. उन्हें जगत का पालनहार भी माना जाता है. ऐसे में आज परशुराम जयंती के मौके पर हम आपको उनके जीवन की कुछ अच्छी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे हर व्यक्ति को प्रेरणा लेनी चाहिए. Also Read - Parshuram Jayanti 2021 Date: कब मनाई जाएगी परशुराम जयंती, जानें महत्व, पूजन विधि, शुभ मुहूर्त

मां-बाप का सम्मान- भगवान परशुराम ने हमेशा अपने मां-बाप का सम्मान किया. हमें भी उनके उनकी ही तरह अपने मां-बाप का सम्मान करना चाहिए. Also Read - Lord Parshuram Farasa in Tanginath Dham | भारत के इस राज्य में हजारों सालों से गड़ा है परशुराम का फरसा

दान- धार्मिक कथाओं के मुताबिक, भगवान परशुराम ने अश्वमेघ यज्ञ कर पूरी दुनिया को जीत लिया था, लेकिन उन्होंने सबकुछ दान कर दिया. व्यक्ति के मन में उनकी ही तरह दान भावना होनी जरूरी है.

सबसे ऊपर न्याय- धार्मिक कथाओं के अनुसार भगवान परशुराम का मानना था कि न्याय करना बहुत जरूरी है. इस कारण उन्हें न्याय का देवता भी कहा जाता है.

शांत हो काम करना- धार्मिक कथाओं के मुताबिक, भगवान परशुराम का स्वभाव गुस्से वाला था, परंतु उन्होंने हर कार्य को संयम से ही किया.