नई दिल्ली. इस साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण लग गया. ये आंशिक सूर्य ग्रहण ही है. ग्रहण तीन घंटे 28 मिनट का है. भारतीय समयानुसार यह ग्रहण दोपहर 1 बजकर 32 मिनट पर शुरू हुआ है. यह शाम 5 बजे तक चलेगा. ग्रहण को भारत में सिर्फ ऑनलाइन देखा जा सकेगा. Also Read - Surya Grahan 2019: जानें कब समाप्‍त होगा सूर्य ग्रहण, बुरे प्रभावों से बचने को सबसे पहले करें ये 5 काम...

Also Read - Surya Grahan 2019: गर्भवती महिलाओं को नहीं करने चाहिए ये काम, बच्‍चे पर होता है विपरीत असर...

कहां दिखेगा ग्रहण Also Read - Surya Grahan 2019: आज रात इस समय लगेगा सूतक, बंद हो जाएंगेे मंदिर के कपाट, सूतक-ग्रहण में क्‍या ना करें...

इस बार आंशिक सूर्य ग्रहण है. उत्तरी यूरोप से लेकर पूर्वी एशिया और रूस में ये स्‍पष्‍ट तौर पर दिखाई देगा. भारत में इसे नहीं देखा जा सकेगा. नासा के मुताबिक इस ग्रहण को उत्‍तरी कनाडा, उत्‍तरी पूर्वी अमेरिका, साइबेरिया, ग्रीनलैंड, और मध्‍य एशिया के कुछ हिस्‍सों (जिनमें चीन भी शामिल है) से देखा जा सकता है.

सूर्यग्रहण अगस्‍त 2018: बस अब कुछ देर में लगने वाला है ग्रहण, इससे पहले कर लें ये जरूरी काम

भारत में कैसे देखें

चूंकि ये आंशिक सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा, तो इसे किसी स्‍पेस एजेंसी द्वारा लाइवस्‍ट्रीम किए जाने पर आप देख सकते हैं. आमतौर पर ग्रहण से कुछ घंटे पहले इसकी तैयारियां हो जाती हैं. फिर यट्यूब पर लिंक शेयर किए जाते हैं. ऐसे ही लिंक पर आप लाइव देख सकते हैं.

Surya Grahan 2018: कैसे लगता है आंश‍िक सूर्यग्रहण, जानें

कैसे लगता है सूर्य ग्रहण

सूर्य ग्रहण तब लगता है जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चंद्रमा आ जाता है. इस कारण चंद्रमा पूरी तरह से या आंशिक रूप से सूर्य को ढक लेता है. तब चंद्रमा की छाया पृथ्वी पर पड़ती है और इसे ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है.

कैसे देखा जाता है सूर्य ग्रहण

वैज्ञानिक सूर्य ग्रहण देखने के लिए खास निर्देश देते हैं. उनके अनुसार सूर्य ग्रहण को बिना चश्‍मा लगाए नहीं देखा जाना चाहिए. इससे आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है. आंखों की रौशनी तक जा सकती है. पर इस बार भारत में ये ग्रहण नहीं देखा जा सकता है.