नई दिल्ली: काला अष्टमी को कालाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है. हर माह की कृष्ण पक्ष अष्टमी को कालाष्टमी मनाई जाती है. कल यानी 6 जनवरी 2021 को कालष्टमी मनाई जाएगी. कालभैरव के भक्त साल की सभी कालाष्टमी के दिन उनकी पूजा और उनके लिए उपवास करते हैं. सबसे मुख्य कालाष्टमी जिसे कालभैरव जयन्ती के नाम से जाना जाता है.

इस दिन व्रत रखने वाले श्रद्धालु भोले नाथ की कथा पढ़कर उनका भजन करते हैं ऐसा कहा जाता हैं कि इस दिन पूजा करने वाले भक्तों को भैरव बाबा की कथा को जरूर सुनना चाहिए.

पौष कालष्टमी 2021 मुहूर्त (Paush Kalashtami 2021 Muhurat)
पौष, कृष्ण अष्टमी
प्रारम्भ -04:03, जनवरी 06
समाप्त – 02:06, जनवरी 07

पौष कालाष्टमी 2021 की पूजा विधि (Paush Kalashtami 2021 Puja Vidhi)

इस दिन भैरव चालीसा का पाठ करना चाहिए. कालाष्टमी के पावन दिन पर कुत्ते को भोजन कराना चाहिए. ऐसा करने से भैरव बाबा प्रसन्न होते हैं और सभी इच्छाओं को पूरा करते हैं भैरव बाबा का वाहन कुत्ता होता हैं इसलिए इस दिन कुत्ते को भोजन कराने से विशेष फल की प्राप्ति भक्तों को होती हैं.