नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बीच बुधवार को केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले गए. यहां सुबह पूरे विधि विधान के साथ 6 बजकर 10 मिनट पर बाबा केदारनाथ के कपाट सादगी के साथ खोले गए. केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के समय पूजा में पुजारी समेत सिर्फ 16 लोग ही शामिल हुए. बता दें  कि कोरोना वायरस के चलते यहां सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा गया. Also Read - COVID Curfew In Uttarakhand: उत्‍तराखंड में 11 से 18 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू होगा, ये है गाइडलाइंस

सुबह 3 बजे मंदिर में ख़ास पूजा अर्चना की गई. मंदिर के मुख्य रावल शिव शंकर लिंग ने बाबा केदारनाथ की समाधि की पूजा-अर्चना की. इसके साथ ही मंदिर से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण कार्य भी किए. बता दें कि मंदिर में पहली पूजा प्रधानमंत्री मोदी के नाम की गई. लॉकडाउन की वजह से भले ही भक्त बाबा केदारनाथ के दर्शन नहीं कर पाए हों लेकिन मंदिर प्रशासन की तरह से भक्तों को डाक के जरिए प्रसाद भेजा जाएगा. Also Read - Complete Lockdown in Uttarakhand: उत्तराखंड में एक सप्ताह के लिए लगाया गया पूर्ण लॉकडाउन, सख्त पाबंदियों के साथ गाइडलाइन जारी

इस बार बाबा केदार की डोली एक दिन पहले केदारनाथ पहुंच गई थी. बता दें, इसके बाद एक बार फिर हमेशा की तरह यहां अगले छह महीने तक शिव की पूजा अर्चना की जाएगी. लेकिन इस बार कोरोना वायरस के कारण श्रद्धालुओं को धाम में जाने की अनुमति नहीं है.