नई दिल्ली: आज यानी 26 अगस्त 2020 को राधा अष्टमी है. भाद्रपद की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है. राधा अष्टमी के पर्व को मथुरा, वृंदावन और बरसाना में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. मान्यता है कि इस दिन राधा रानी का जन्म हुआ था. कहा जाता है कि जिसने राधा जी को प्रसन्न कर लिया उसे भगवान कृष्ण भी मिल जाते हैं. इसलिए इस दिन राधा-कृष्ण दोनों की पूजा की जाती है. ऐसे में आज राधा अष्टमी के मौके पर हम आपको राधा रानी को खुश करने के लिए एक विशेष पूजा के बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं इस खास पूजा के बारे में जिसे करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती है. शास्त्रों में राधा जी को लक्ष्मी जी का अवतार माना गया है. इसलिए इस दिन लक्ष्मी पूजन भी करना चाहिए. ऐसा करने से आर्थिक समस्याएं खत्म होती हैं. Also Read - Radha Ashtami 2020 Upay: राधा अष्टमी के दिन करें ये खास उपाय, आर्थिक स्थिति होगी मजबूत

राधा रानी की खास पूजा विधि Also Read - Radha Ashtami 2020: कल मनाई जाएगी राधा अष्टमी, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

सूर्योदय से पहले स्नान करें. फिर साफ़ कपड़े पहनें.
एक चौकी पर पीला कपड़ा बिछाएं. उस पर श्री राधा कृष्ण के युगल रूप की प्रतिमा या विग्रह पर फूलों की माला चढ़ाएं.
चंदन का तिलक लगाएं. साथ ही श्री कृष्णा भगवान को इत्र अर्पित करें
राधा जी के मंत्रों का जप करें. ऊं ह्नीं राधिकायै नम:.ऊं ह्नीं श्रीराधायै स्‍वाहा.
राधा चालीसा और राधा स्तुति का पाठ करें. श्री राधा रानी और भगवान श्री कृष्ण की आरती करें. आरती के बाद पीली मिठाई या फल का भोग लगाएं.

पूजा में शामिल करें ये चीजें
– फूल
– अक्षत
– चंदन
– लाल चंदन
– सिंदूर
– रोली
– सुगंध
– धूप
– दीप
– फल
– खीर
– मिठाई