नई दिल्ली: सावन मास की पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2020) का त्योहार मनाया जाता है. इस साल रक्षा बंधन का पर्व 3 अगस्त 2020 यानी सोमवार को मनाया जाएगा. रक्षाबंधन भाई-बहन का पवित्र त्योहार है. इस दिन बहन भाई की कलाई में राखी बांधती है और भाई बहन की रक्षा करने का वचन देता है. ये रक्षाबंधन बहुत खास होने वाला है क्योंकि इस साल रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और आयुष्मान दीर्घायु का शुभ संयोग बन रहा है. Also Read - रक्षा बंधन पर हरियाणा के मुख्यमंत्री ने की घोषणा, राज्य में खुलेंगे 11 कॉलेज

रक्षा बन्धन पर राखी बांधने  (Raksha Bandhan 2020 subh muhurat)का शुभ मुहूर्त Also Read - PM मोदी की पाकिस्तानी बहन, हर साल बांधती हैं राखी, 24 साल पुराना रिश्ता

रक्षा बन्धन सोमवार, अगस्त 3, 2020 को
रक्षा बन्धन अनुष्ठान का समय – 09:24 ए एम से 09:14 पी एम
अवधि – 11 घण्टे 49 मिनट्स
रक्षा बन्धन के लिये अपराह्न का मुहूर्त – 01:49 पी एम से 04:29 पी एम
अवधि – 02 घण्टे 41 मिनट्स
रक्षा बन्धन के लिये प्रदोष काल का मुहूर्त – 04:10 पी एम से 09:14 पी एम
अवधि – 02 घण्टे 04 मिनट्स Also Read - Raksha Bandhan 2020: अस्पताल की अनूठी पहल, बन रही मिठाईयां, कोरोना मरीज मनाएंगे राखी का त्योहार...

राखी बांधने की पूजा विधि
रक्षाबंधन के दिन अपने भाई को इस तरह राखी बांधें. सबसे पहले राखी की थाली सजाएं. इस थाली में रोली, कुमकुम, अक्षत, पीली सरसों के बीज, दीपक और राखी रखें. इसके बाद भाई को तिलक लगाकर उसके दाहिने हाथ में रक्षा सूत्र यानी कि राखी बांधें. राखी बांधने के बाद भाई की आरती उतारें. फिर भाई को मिठाई खिलाएं. अगर भाई आपसे बड़ा है तो चरण स्‍पर्श कर उसका आशीर्वाद लें. अगर बहन बड़ी हो तो भाई को चरण स्‍पर्श करना चाहिए. राखी बांधने के बाद भाइयों को इच्‍छा और सामर्थ्‍य के अनुसार बहनों को भेंट देनी चाहिए. ब्राह्मण या पंडित जी भी अपने यजमान की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधते हैं.