Raksha Bandhan 2018: रविवार 26 अगस्त को राखी का त्योहार मनाया जाएगा. हिन्दू पंचांग के अनुसार हर साल श्रावण मास की पूर्ण‍िमा को रक्षाबंधन का त्‍योहार मनाया जाता है. इस बार की राखी बेहद शुभ है और इस बार खास संयोग भी बन रहा है. इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्रा नहीं है और राजयोग बन रहा है. दरअसल, भद्रा में राखी नहीं बांधी जाती और राजयोग में राखी बांधना बहुत शुभ होता है. इसलिए इस बार का रक्षाबंधन बेहद शुभ है. Also Read - Happy Raksha Bandhan 2018: रक्षा बंधन से जुड़ी कहानियां, जानिए कैसे शुरू हुआ भाई-बहन का त्योहार

Happy Raksha Bandhan 2018: रक्षाबंधन पर भेजें प्‍यारभरा संदेश, जहां भी होंगे, मिलने आएंगे भाई-बहन

Happy Raksha Bandhan 2018: रक्षाबंधन पर भेजें प्‍यारभरा संदेश, जहां भी होंगे, मिलने आएंगे भाई-बहन

रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त: कब से कब तक बांधे राखी

राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त धनिष्ठा नक्षत्र अतिगंड योग में माना जाता है, जो कि 26 अगस्त को सुबह 5:26 बजे से 12:35 बजे तक है. इस मुहूर्त को पंचककारक भी कहा जाता है. इस समयावधि में राखी बांधना सबसे शुभ होता है. हालांकि बहनें इसके बाद भी अपने भाइयों को शाम 4:30 बजे तक राखी बांध सकती हैं.

Raksha bandhan 2018: जानिये, राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और विधि

इस मुहूर्त में ना बांधे राखी:

रक्षाबंधन के दिन कभी भी राहुकाल में राखी नहीं बांधी जाती. हिन्दू पंचांग के अनुसार 26 अगस्त को शाम 4:30 बजे से 6 बजे तक राहुकाल है. राहुकाल में अपने भाई को भूलकर भी राखी ना बांधें. क्योंकि इसका भाई और बहन दोनों पर नकारात्मक असर होता है. राहुकाल में राखी बांधने से जहां भाई-बहन के रिश्ते पर प्रभाव पड़ता है, वहीं भाई की उम्र भी इससे प्रभावित होती है.