रामलला के भक्‍तों को इस बात का इंतजार है कि कब अयोध्‍या में राम मंदिर बनने की खबर आए. अब उनका ये सपना जल्‍द ही पूरा हो सकता है.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने का निर्माण कार्य नवंबर महीने के बाद शुरू हो जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहे राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का फैसला राम मंदिर के पक्ष में आएगा.

स्वामी अयोध्या में दो दिवसीय दौरे पर हैं. उन्होंने कहा कि पूजा करने का अधिकार मूलभूत अधिकारों में से एक है और इसे छीना नहीं जा सकता.

Pitru Paksha 2019: श्राद्ध करने जा रहे हैं! पहले ध्‍यान से पढ़ें ये 10 बातें, रखें ध्‍यान…

इससे पहले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सहयोगी पार्टी शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण में तेजी लाने के लिए कार्रवाई करने की बात कही थी. स्वामी की यह टिप्पणी उस बयान के कुछ दिनों के बाद आई है.

शिवसेना प्रमुख ने कहा था कि अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद मोदी सरकार ने दिखा दिया है कि यह फैसला लेने वाली सरकार है.

उन्होंने कहा था कि अब जब अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया है, समय आ गया है कि राम मंदिर का निर्माण हो और एक समान नागरिक संहिता पूरे देश में लागू की जाए.

ठाकरे ने कहा था, “हमने चुनाव से पहले कहा था कि कश्मीर का मुद्दा सुलझाएंगे। विपक्ष कह रहा था कि हम अनुच्छेद 370 को खत्म नहीं कर पाएंगे और आज मुझे मोदी जी पर गर्व है.”