Ram Navami 2020: चैत्र नवरात्रि के 9वें दिन राम नवमी का पर्व मनाया जाता है. इस दिन का हिंदू धर्म में काफी महत्व है. ऐसा कहा गया है कि राम नवमी के दिन ही भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था. Also Read - Navratri Puja 2020: शुभ मानी जाती हैं ये चीजें, अष्टमी- नवमी के दिन कन्याओं को करें भेंट

राम नवमी महत्व

  Also Read - Navratri Super Healthy Drinks: नवारात्रि के दौरान अपने शरीर को इन ड्रिंक्स की मदद से रखें हेल्दी, बॉडी हमेशा रहेगी हाइड्रेट

यूं तो चैत्र नवरात्रि का हर दिन काफी महत्वपूर्ण माना गया है पर नवरात्रि के 9वें दिन का महत्व राम नवमी के कारण और बढ़ जाता है. इस दिन को साल के बेहद शुभ दिवसों की श्रेणी में रखा गया है. रामनवमी के दिन मां दुर्गा और श्री राम-मां सीता का पूजन किया जाता है. इस दिन का महत्व इतना ज्यादा है कि लोग नये घर, दुकान या प्रतिष्ठान में नवमी के दिन ही पूजा-अर्चना कर प्रवेश करते हैं. इस दिन मां दुर्गा के 9वें स्वरूप सिद्धिदात्री की उपासना की जाती है. Also Read - Ram Navami 2020 Wishes In Hindi: राम नवमी पर हिंदी में भेजें ये शुभकामना संदेश

क्यों मनाई जाती है राम नवमी

 

ऐसी मान्यता है कि राम नवमी के दिन भगवान राम का जन्म हुआ था. इसलिए इस दिन लोग श्रीराम के जन्म की खुशियां मनाते हैं. वहीं एक और मान्यता यह भी है कि नवमी के दिन नवरात्रि का समापन होता है और श्रीराम ने धर्म युद्ध में विजय प्राप्त करने के लिए मां दुर्गा की पूजा की थी. इसके बाद ही श्रीराम ने रावण का वध किया था. यह भी कहा जाता है कि राम नवमी के दिन ही गोस्वामी तुलसीदास ने रामचरितमानस को लिखना शुरू किया था.

राम नवमी 2020

2 अप्रैल
राम नवमी पूजा मुहूर्त – 11:10 से 13:38
नवमी तिथि आरंभ – 03:39 (2 अप्रैल 2020)
नवमी तिथि समाप्त – 02:42 (3 अप्रैल 2020)