Sakat Chauth 2019 का व्रत 24 जनवरी को रखा जाएगा. इस बार गुरुवार का दिन पड़ने के कारण व्रत का महत्‍व और बढ़ गया है. Also Read - Sankashti Chaturthi 2020: आज संकष्टी चतुर्थी, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Also Read - Sankashti Chaturthi 5 October: आज संकष्टी चतुर्थी व्रत, जानें महत्व, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त

पंडितों के अनुसार, संतान की लंबी आयु की कामना से रखे जाने वाले इस व्रत को इस बार रखने से परिवार के कल्‍याण की हर कामना पूरी होगी. Also Read - Sankashti chaturthi 2020: संकष्टी चतुर्थी आज, गणपति से मनचाहा वरदान पाने के लिए ऐसे करें पूजा

निर्जला व्रत

इस दिन महिलाएं अपनी संतान व परिवार की दीर्घायु के लिए निर्जला व्रत रखती हैं. शाम के समय गणेश पूजन किया जाता है. फिर चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत पूरा होता है.

Sakat Chauth 2019: संतान को हर कष्‍ट से दूर रखता है माघ संकष्टि चतुर्थी व्रत, जानें शुभ मुहूर्त, व्रत विधि एवं कथा…

प्रसाद

प्रसाद के रूप में तिल और गुड़ के बने लड्डु रखे जाते हैं. इसके अलावा शकरकंद, अमरूद, गुड़ और घी अर्पित किया जाता है. तिल के लड्डु बनाने के लिए तिल को भूना जाता है. इसे गुड़ की चाशनी में मिलाकर तिलकूट का पहाड़ बनाया जाता है. कई जगह तिलकूट का बकरा बनाते हैं. गणेश पूजा के बाद इसे घर का बच्चा काटता है.

गुरुवार को होने से बढ़ा महत्व

गुरुवार को होने की वजह से इस दिन को महत्‍व और बढ़ गया है. इस दिन सकट चौथ का पड़ना शुभ माना जाता है.

संकष्टी चतुर्थी 2019: कब है संकष्‍टी चतुर्थी, यहां देखें साल भर का कैलेंडर

शुभ मुहूर्त-चंद्रोदय का समय

इस बार ये व्रत 24 जनवरी 2019 को है. 23 जनवरी रात 11.59 पर चतुर्थी तिथि शुरू हो जाएगी और 24 जनवरी को रात 10.53 बजे तक रहेगी. शुभ मुहूर्त 24 जनवरी को रात 8.20 बजे से है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.