Sawan Month 2020 Date: भगवान शिव की उपासना का पावन सावन का महीना 6 जुलाई से शुरू होने मजा रहा है. इस महीने की शुरुआत सोमवार से होती है. श्रावण का महीना भगवान शिव को बेहद प्रिय है, इसलिए इस खास माह में भगवान शिव के भक्त उनकी उपासना करते हैं. सावन सोमवार के व्रत रखें जाते हैं. यह महीना 6 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है जो 3 अगस्त रहेगा. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सावन महीने में पड़ने वाले पहले सोमवार को भगवान शिव की पूजा अर्चना करने पर सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं. इस महीने में शिव भक्त अपनी कांवड़ यात्रा भी शुरू करते हैं. इस बार सावन माह में शुभ संयोग बन रहा है. दरअलस, श्रावण माह की शुरुआत सावन से हो रही है और इस माह का अंत भी सावन सोमवार के साथ हो रहा है. कांवडिए इस महीने में पैदल यात्रा करके शिवमंदिरों में शिवलिंग का जलाभिषेक करते हैं. Also Read - Sawan Somvar 2020: सावन के सोमवार के दिन ऐसे करें भगवान शिव की पूजा, ये है खास विधि

सावन महीने (Sawan Month 2020) का महत्व-
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन का यह महीना भगवान शिव को काफी पसंद होता है. इस दिन व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. इस महीने में लोग सुखी विवाहित जीवन की कामना के लि व्रत रखते हैं. इसके साथ ही महिलाएं अच्छा जीवनसाथी पाने के लिए भी इस महीने व्रत रखती हैं. Also Read - Pradosh 2020: प्रदोष व्रत आज, जानें भगवान शिव की कैसे करें पूजा, ये है शुभ समय

पूजा (Sawan Month 2020) के दौरान ध्यान रखें ये बातें-
क्योंकि यह महीना भगवान शिव का प्रिय होता है इसलिए इस महीने में शिवलिंग की पूजा की जाती है और बेल के पत्ते चढ़ाए जाते हैं. वहीं, इस दिन दूध से भी शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है. शिवजी की पूजा में केतकी के फूलों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. कहा जाता है कि केतकी के फूल चढ़ाने से भगवान शिवजी नाराज होते हैं. इसके अलावा, तुलसी को कभी भी भगवान शिवजी को अर्पित नहीं किया जाता है. साथ ही शिवलिंग पर कभी भी नारियल का पानी नहीं चढ़ाना चाहिए. भगवान शिवजी को हमेशा कांस्य और पीतल के बर्तन से जल चढ़ाना चाहिए. Also Read - Shravan 2018 कांवड़ यात्राः दिल्ली से हरिद्वार या देहरादून जाना है तो पढ़ें यह खबर